पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राजदीप सरदेसाई को डांटा, लेकिन यह पूरी कहानी नहीं है, जानिए क्या है हकीकत?

0

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें इंटरव्‍यू के दौरान पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी वरिष्ठ इंडिया टूडे के वरिष्‍ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई को डांटते हुए दिख रहे है। जिसके बाद से ही सोशल मीडिया पर राजदीप सरदेसाई के अलोचक प्रणब मुखर्जी की खूब सराहना कर रहें है, लेकिन इस वीडियो की हकीकत कुछ और ही है।

राजदीप सरदेसाई

दरअसल, इंटरव्‍यू के दौरान पूर्व राष्‍ट्रपति राजदीप के सवालों का जवाब देते रहे। लेकिन, राजदीप के बार-बार टोकने से मुखर्जी नाराज हो गए और उन्होंने पत्रकार राजदीप की क्‍लास लगा दी। पूर्व राष्‍ट्रपति ने पत्रकार राजदीप को नसीहत देते हुए कहा, मुझे अपनी बात पूरी करने दीजिए। आप ये आदत मत रखिए। मुझे यह बताते हुए दुख हो रहा कि आप एक पूर्व राष्‍ट्रपति को टोक रहे हैं। कृपया जरूरी शिष्‍टाचार बनाए रखें, टोकाटाकी न करें।

इस पर राजदीप ने कहा, जी, ठीक है। जिसके बाद प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा मैं टीवी पर आने के लिए बेचैन नहीं रहता। आपने मुझे यहां बुलाया है और आप अपनी आवाज ऊंची नहीं कर सकते हैं। मैं आपके सवालों का जवाब दे रहा हूं। प्रणब के इस रवैये के बाद राजदीप ने माफी मांगते हुए खेद प्रकट किया और इंटरव्‍यू आगे बढ़ाया। हालांकी, कई यह नहीं जानता की पूर्व राष्ट्रपति ने अपने गुस्से की प्रतिक्रिया के लिए बाद में पत्रकार से माफी मांगी थी।

प्रणब मुखर्जी ने जब राजदीप सरदेसाई को फटकार लगाई तो ट्विटर पर #PranabSlapsRajdeep ट्रेंड करने लगे। जिसके बाद ट्विटर पर राजदीप सरदेसाई से सफाई दी। राजदीप सरदेसाई ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति की प्रतिक्रिया को मुद्दा बनाना गलत है। उन्होंने कहा कि जब इंटरव्यू खत्म हुआ तो पूर्व राष्ट्रपति ने भी उनसे माफी मांगी और अपनी तल्ख टिप्पणी के लिए सॉरी कहा।

दरअसल, जब प्रणब मुखर्जी के साथ राजदीप सरदेसाई का इंटरव्यू खत्म हुआ तो राजदीप ने कहा, ‘थैंक्यू प्रणब दा, आपसे सवाल पूछना सचमुच में विशेषाधिकार की बात है, आपका शुक्रिया।’ इसके बाद प्रणब दा ने कहा, ‘थैंक्यू राजदीप, और मैं आपके साथ थोड़ी सख्ती से पेश आने के लिए सॉरी बोलता हूं, थैंक्यू।’ इसके बाद राजदीप ने कहा कि कोई बात नहीं है सर आपकी प्रतिक्रिया को मैं सकारात्मक रूप से लेता हूं।’

सोशल मीडिया पर एक यूजर के सवाल पर जवाब देते हुए राजदीप ने कहा कि, मेरे काम है सवाल पूछना और प्रणब दा का काम है जवाब देना। मेरी जगह कोई और पत्रकार होता तो इसे एडिट कर देता। लेकिन मेरा मानना है कि, इसे प्रसारित किया जाना चाहिए।

वहीं एक यूजर ने राजदीप सरदेसाई की तारीफ करते हुए लिखा कि, ‘राजदीप को इसका श्रेय दिया जाना चाहिए कि उन्होंने इस पार्ट को इंटरव्यू से एडिट नहीं किया। हालांकि ये एक बड़ी चीज थी।’ जिसका जवाब देते हुए राजदीप ने कहा कि, ‘इसमें कोई बहादुरी वाली नहीं बल्कि ईमानदार होने की बात है यदि एक पूर्व राष्ट्रपति महसूस करते हैं कि उनसे एक विशेष तरीके से सवाल पूछा जाना चाहिए तो ये उनका विशेषाधिकार है, लेकिन लोगों को पूरा इंटरव्यू सुनना चाहिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here