विवादित पोस्टरों की लड़ाई में अब कांग्रेस भी कूदी

0

बीजेपी सहित अन्य पार्टियों के साथ अब कांग्रेस भी पोस्टबाजी पर उतर आई है। गोरखपुर से एक पोस्टर सामने आया है जिसमें कांग्रेस की नैय्या पार लगाने वाले प्रशांत किशोर को जनरक्षक सिंघम के रूप में दिखाया जा रहा है और अखिलेश यादव, मायावती, केशव प्रसाद मौर्या के साथ औवेसी हाथ जोड़े माफी मांग रहे है। बीजेपी ने चीरहरण का पोस्टर पिछले माह जारी किया था अब उसी कड़ी में कांग्रेस सर्मथक अपना जवाब लेेकर आए है।
13147439_10205085814299704_1850366994211528932_o

इस सयम पूरे देश में राजनीतिक पार्टियां पोस्टर वार करके विपक्षी दलों को चित्त करने में जुटी हैं। गोरखपुर में कांग्रेसियों ने कुछ जगह पर पोस्टर लगाया है, जिसमें कांग्रेस प्रंशात किशोर कोे सिंघम के रूप में दिखाया गया है। इसमें प्रंशात विपक्षी दलों के नेताओं को चेताते हुए कह रहे हैं कि साल 2017 में प्रदेश में वह आ रहे हैं।

ऐसे में अब दंगाई, भ्रष्टाचारी, बाहुबली और घोटालेबाज सावधान हो जाएं। फिलहाल कांग्रेस का यह पोस्टर विवादों में आ गया है। एआईएमआईएम जिलाध्यक्ष समीर सिद्दीकी ने कोतवाली में तहरीर देकर पोस्टर लगाने वाले कांग्रेसियों पर कार्रवाई की मांग की है।

वेबवार्ता की खबर के अनुसार रविवार को शहर में बेतियाहाता चैराहे, टाउनहाल और शास्त्री चैक पर जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव अनवर हुसैन के नेतृत्व में लगाए गए पोस्टर में कांग्रेस की नैय्या पार लगाने वाले प्रशांत किशोर का सिंघम के रूप में जनरक्षक दिखाया गया है। पोस्टर में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और एआईएमआईएम के असद्दुदीन ओवैसी को हाथ जोड़े दिखाया गया है।

वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती की भी पोस्टर पर तस्वीर है। इस पूरे पोस्टर विवाद पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष सैयद जमाल का कहना है कि पोस्टर वार की शुरुआत तो विपक्षी दलों ने ही की थी। कांग्रेस कार्यकर्ता किसी मुकदमे से डरने वाले नहीं है। हर लड़ाई लड़ने को तैयार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here