भारत में स्वास्थ्य सेवा का बुरा हाल, 893 मरीजों पर सिर्फ 1 डॉक्टर

0

भारत में स्वास्थ्य सेवा कितना सही है उसका अंदाजा आपको इस बात से चल जाएगा कि इस देश में 893 मरीजों के इलाज के लिए सिर्फ 1 डॉक्टर है। ये आंकड़े भी तब हैं जब हम सारे क्षेत्र के डॉक्टरों मसलन एलोपैथिक, हैम्योपैथिक, आयुर्वेदिक और यूनानी को मिला देते है।

Also Read:  उत्तराखंड: देहरादून में लड़की को छेड़ने के आरोप में युवक की पीट-पीटकर हत्या
Congress advt 2
Photo: The Hindu
Photo: The Hindu

यह आकंड़े शुक्रवार को लोकसभा में एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने दिया। मंत्री ने कहा कि इस देश में 9.59 लाख एलोपैथिक डॉक्टर और 6.7 लाख आयुर्वैदिक, युनानी और हेम्योपैथिक डॉक्टर रजिस्टर्ड हैं। इसमें से 80% डॉक्टर यानि की 7.67 लाख एलोपैथिक डॉक्टर वर्तमान समय में अपनी सेवा दे रहे हैं। इनकी संख्या और रोगियों के बीच 1:1681 का अनुपात है। अगर हम सारे क्षेत्र के डॉक्टरों को मिला दें तो ये यह अनुपात 1:893 हो जाएगा।

Also Read:  सुप्रीम कोर्ट ने 'पद्मावती' की रिलीज पर रोक लगाने वाली याचिका को किया खारिज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here