VIDEO: अलीगढ़ में पुलिसकर्मी ने दोपहिया वाहनों पर बरसाई लाठियां, मनीष सिसोदिया बोले- “पुलिस मीडिया के आने से पहले तैयारी कर रही है”

0

नागरिकता संशोधन कानून पर पूर्वोत्तर के कई राज्यों सहित देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन किया जा रहा है। देश की राजधानी दिल्ली के जामिया इलाके में कानून को लेकर विरोध किया जा रहा है तो वहीं अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी नागरिकता कानून को लेकर विरोध देखा गया है। यहां देर शाम बड़ी संख्या में छात्रों ने जबरदस्त हंगामा और पथराव किया। AMU में पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को तो खदेड़ा ही, साथ ही कई बाइकों और गाड़ियों पर लाठियां बरसाईं।

अलीगढ़

इस बीच, प्रदर्शन के बाद का एक वीडियो सामने आया है जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो के देखकर आप भी चौंक जाएंगे। वीडियो में देखा जा सकता है कि विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिसकर्मी अलीगढ़ की गलियों में खड़े दोपहिया वाहनों में तोड़फोड़ कर रहे हैं। साथ ही उन्‍हें अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के मुख्‍य द्वारा से आंसू गैस के गोले दागते भी देखा जा सकता है।

इस वायरल वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, “पुलिस मीडिया के आने से पहले तैयारी कर रही है ताकि बाद में दिखाया जा सके कि देखो प्रदर्शनकारी छात्रों ने कितने वाहन तोड़ डाले…”

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा, “हिंसा फैलाती हुई मोटर साइकिलों पर लाठी बरसाती हुई अलीगढ़ पुलिस।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी छात्र विश्वविद्यालय के बाब-ए-सर सय्यद गेट पर एकत्र हुए और जगह-जगह लगाई गई बैरिकेडिंग तोड़ डाली और पथराव किया। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया। दिल्‍ली के जामिया मिल्ल्यिा यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए यहां भी छात्र जुलूस निकालने के लिए इकट्ठा हो रहे थे जिसके बाद हिंसा भड़क उठी।

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की जामिया मिलिया इस्लामिया के समीप न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में पुलिस के साथ झड़प हो गई, जिसमें प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की चार बसों और दो पुलिस वाहनों में आग लगा दी। झड़प में छात्रों, पुलिसकर्मियों और दमकलकर्मी समेत करीब 60 लोग घायल हो गए। पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े लेकिन उन पर गोलियां चलाने की बात से इनकार किया है।

हालांकि, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहे हैं जिनमें कथित तौर पर पुलिस गोलीबारी करती हुई, विश्वविद्यालय के बाथरूम में घायल छात्र और लहुलुहान हालत में छात्र दिखाई दे रहे हैं। वहीं, दिल्ली पुलिस ने झड़पों के दौरान किसी के हताहत होने की खबरों से इनकार किया है। सड़कों पर आगजनी के बाद पुलिस जामिया विश्वविद्यालय के परिसर में घुस गई जहां हिंसा में कथित तौर पर शामिल कई लोगों को हिरासत में लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here