उत्तर प्रदेश: नशे में धुत दारोगा ने पुलिस चौकी के अंदर मासूम बच्ची से की रेप की कोशिश, निलंबित

0

उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने हैं, उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती राज्य में बिगड़े कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करना है। क्योंकि आए दिन महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं। भले ही सीएम योगी महिलाओं की सुरक्षा के तमाम दावे और वादे करते हों, लेकिन सोचिए अगर रक्षक ही भक्षक बन जाएं तो राज्य की क्या स्थिति होगी।जी हां, योगी के पुलिस का एक शर्मनाक चेहरा रामपुर से आया है जहां नशे में धुत एक दारोगा ने चौकी परिसर में ही 6 साल की एक मासूम बच्ची के साथ बलात्कार करने की कोशिश की। शर्मशार करने वाला यह मामला जिले के केमरी थाना क्षेत्र के भंवरका चौकी का है।

हिंदुस्तान में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, नशे में धुत दरोगा ने पुलिस चौकी के अंदर ही एक छह साल की बच्ची को अपनी हैवानियत का शिकार बनाने की कोशिश कर रहा था। इस बात की भनक लगी तो कुछ सिपाही और ग्रामीण पहुंच गए। दरोगा से जबरन कमरा खुलवाकर बच्ची को बाहर निकाला।

मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक डा. विपिन ताडा मौके पर पहुंचे। शुरुआती जांच के बाद उन्होंने आरोपी दरोगा को सस्पेंड कर दिया। साथ ही उसे हिरासत में लिया गया है। घटना शनिवार(30 सितंबर) की रात करीब आठ बजे की है।

रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने बताया कि कमेरी थाने का एचसीपी तेजवीर सिंह नशे में था। उसने चौकी के पास ही खेल रही गांव की सात साल की बच्ची को फुसलाकर कमरे में खींच लिया। एक सिपाही की इस पर नजर पड़ी तो उसे माजरा समझ में आ गया। तब तक कुछ और लोग एकत्र हो गए।

कुछ ही देर बाद लोग दरोगा के कमरे पर पहुंच गए और दरवाजा खुलवाने की कोशिश की उसने दरवाजा नहीं खोला। बच्ची के चीखने-चिल्लाने की आवाज पर लोग भड़क उठे और दरवाजा तोड़ने की कोशिश की तब कहीं दरोगा ने दरवाजा खोला। उसने वहां मौजूद लोगों से हाथापाई भी की।

तत्काल घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। कुछ ही देर में एसपी डॉ. विपिन ताडा सहित कई बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए। एसपी ने आरोपी दरोगा को फौरन सस्पेंड कर दिया। इसके बाद उसे हिरासत में लेकर थाने भेज दिया गया। पीड़ित बच्ची की मां और चाचा ने दरोगा पर रेप का आरोप लगाते हुए सख्त कार्रवाई की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here