सामने आया कासगंज हिंसा का नया वीडियो, हाथों में बंदूक लिए फायरिंग करते दिखे हिंदू युवक?

0

उत्तर प्रदेश के कासगंज में गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के दिन तिरंगा यात्रा के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा में चंदन गुप्ता की मौत के मामले के मुख्य आरोपी सलीम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, केंद्र सरकार ने इस मामले में योगी सरकार से रिपोर्ट देने को कहा है। गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार को शुक्रवार को शुरू हुई हिंसा तथा उसके बाद इलाके में शांति के लिए उठाए गए कदमों के बारे में विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है।

PHOTO: News 18

गौरतलब है कि कासगंज में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर हुए विवाद में चंदन गुप्ता (22) नामक एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, कासगंज में हिंसा के सिलसिले में अभी तक कुछ 118 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सुरक्षा बल वहां लगातार चौकसी बरत रहे हैं।

सामने आया नया वीडियो

इस बीच कासगंज हिंसा के जुड़ी एक नया वीडियो सामने आया है, जिसमें तिरंगा हाथ में लेकर कथित तौर पर हिंदू युवा गोलियां चलाते दिख रहे हैं। यूपी पुलिस कासगंज हिंसा से जुड़े इस नए वीडियो की जांच कर रही है, जिसमें गणतंत्र दिवस वाले दिन कथित तौर पर हिंदू युवा हाथों में बंदूक लिए मुस्लिम बहुल इलाकों की तरफ जाते हुए नजर आ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट में दावा है कि यह वीडियो 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस की सुबह का है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस वीडियो को स्‍थानीय तहसील कार्यालय की छत से शूट किया गया है। वीडियो में लड़कों के हाथ में तिरंगे के अलावा लाठी-डंडे दिख रहे हैं। वीडियो के कुछ हिस्‍से में गोली चलने की आवाजें सुनाई दे रही हैं। वीडियो में एक युवक पिस्टल लहराते हुए दिख रहा है। युवक हाथ में तिरंगा, लाठी, डंडे और लोहे के रॉड के साथ नजर आ रहे हैं। सड़कों पर दौड़ रहे हैं और फायरिंग की आवाजें सुनाई दे रही हैं। हालांकि ‘जनता का रिपोर्टर’ इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, अब यूपी पुलिस इस नए वीडियो के सामने आने के बाद कासगंज हिंसा की नए एंगल से जांच कर रही है। इस वीडियो के बारे में पूछने पर एक सीनियर अधिकारी ने अखबार को बताया कि पुलिस एक नए एंगल से मामले की जांच कर रही है। पहचान जारी ना होने की शर्त पर एक आईपीएस अधिकारी ने TOI को बताया कि, ‘यह वीडियो उसी जगह का है, जहां चंदन गुप्ता को गोली गली थी।’

अखबार ने पुलिस सूत्रों के हवाले से लिखा है कि, ”वहां करीब 50 की संख्या में युवा मौजूद थे और उनमें से एक के हाथ में भारतीय ध्‍वज (तिरंगा) था। इनमें एक युवक के हाथ में बंदूक भी दिख रही थी और कुछ अन्य युवक डंडे ले रखे थे। इस दौरान कई राउंड हवाई फायर किए गए और मुस्लिम बहुल इलाकों की तरफ पत्थरबाजी भी की गई। 14 सेकंड के इस वीडियो में नजर आ रहे युवकों की शिनाख्त के लिए एक स्पेशल टीम जांच कर रही है।’

अखबार के मुताबिक, शहर कोतवाली के एसएचओ रिपुदमन सिंह की तरफ से फाइल की गई एफआईआर में कहा गया है कि, ‘तिरंगा यात्रा में शामिल युवाओं को दूसरे समुदाय के लोगों ने अपनी कॉलोनी के रास्ते जाने से मना किया, जिसके बाद दोनों समूहों में झड़प होने लगी। जब पुलिस ने मामला शांत कराने के लिए हस्तक्षेप किया तो किसी ने बात नहीं मानी। इसी दौरान गली में गोली चलने की आवाज आई। इसके बाद दोनों तरफ से पत्थरबाजी और फायरिंग होने लगी। इस दौरान पुलिसकर्मियों को भी निशाना बनाया गया।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here