लॉकडाउन के बीच बिहार में सियासत तेज, गोपालगंज जा रहे तेजस्वी यादव को पुलिस ने रोका

0

कोरोना लॉकडाउन के बीच बिहार के गोपालगंज में तिहरे हत्याकांड को लेकर अब सियासत चरम पर पहुंच गई है। इस मामले में आरोपी जदयू के विधायक अमरेंद्र पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गोपालगंज जाने के लिए शुक्रवार को निकले बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी। इसके बाद राबड़ी देवी के आवास के बाहर गहमा गहमी की स्थिति उपन्न हो गई।

बिहार
फोटो: सोशल मीडिया

गोपालंगज में तीन लोगों की हत्या के मामले में आरोपी विधायक पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विधायकों के साथ शुक्रवार (29 मई) को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव गोपालगंज के लिए निकले, लेकिन पुलिस प्रशासन ने उन्हें प्रवेश द्वार पर रोक दिया। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि गोपालगंज जाने की अनुमति नहीं दी गई है।

इधर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा, “अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर रहें,लेकिन हम न्याय के लिए पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे हैं तो हमें रोका जा रहा है। गोपालगंज रेड ज़ोन में अपराधियों को छूट है लेकिन हमें ये लोग रोक रहे हैं इससे साबित होता है कि सरकार में बैठे लोग अपराध की जननी है।”

इस बीच, राबड़ी के आवास के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती रही। राजद के नेता और कार्यकर्ता नारेबाजी करते रहे। इसके बाद पुलिस भी बड़ी संख्या में वहां मौजूद रही। काफिले में तेजस्वी के साथ राबड़ी देवी व तेज प्रताप यादव भी हैं। राबड़ी आवास के बाहर कई विधायक भी जमे हैं।

बता दें कि, विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय पर गोपालगंज के जे. पी. यादव के माता-पिता व भाई की हत्या में शामिल होने का आरोप है। गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जदयू विधायक को बचाने का आरोप लगाते हुए गुरुवार तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर शुक्रवार की सुबह पटना से गोपालगंज मार्च का अल्टीमेटम दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here