गोडसे को ‘देशभक्त’ बताने वाली BJP सांसद साध्वी प्रज्ञा को पीएम मोदी ने नहीं किया मन से माफ, अभिवादन के दौरान फेर लिया मुंह!, देखें वीडियो

0

मालेगांव बम धमाकों की आरोपी और भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के टिकट पर चुनी गईं नवनिर्वाचित सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर भले ही अब विवाद समाप्त हो गया हो, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें अभी तक मन से माफ नहीं दिया है। जी हां, अगर माफ किया होता तो शनिवार को संसद के सेंट्रल हॉल में अभिवादन के दौरान जब उन्हें बधाई देने के लिए आगे बढ़ी साध्वी को पीएम मोदी ने अनदेखी नहीं किया होता।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा है कि शनिवार को संसद भवन के सेंट्रल हॉल में आयोजित एनडीए की बैठक में पीएम मोदी को गठबंधन का नेता चुना गया। इसके बाद सभी नवनिर्वाचित सांसद पीएम मोदी को बधाई दे रहे थे। इस दौरान पीएम मोदी सभी नवनिर्वाचित सांसदों से हंस कर मिले, लेकिन जैसी ही साध्वी प्रज्ञा उन्हें बधाई देने के लिए आगे बढ़ीं, तो उन्होंने कथित तौर पर मुंह फेर लिया।

बताया जा रहा है कि गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान की वजह से ठाकुर की पीएम मोदी ने अनदेखी की। मीडिया में आई खबरों के अनुसार जैसे ही साध्वी ने उन्हें प्रणाम किया, मोदी ने हाथ जोड़े लेकिन मुंह उनसे फेर लिया और उन्हें आगे बढ़ने को बोल दिया। जबकि मोदी साध्वी को छोड़ सभी सांसदों से बेहद प्रेम से मिले। लेकिन साध्वी प्रज्ञा के सामने कुछ असहज दिखे। कुछ इसी तरह का हाल साध्वी का भी था।

रिपोर्ट के मुताबिक, साध्वी प्रज्ञा ने जब पीएम मोदी का अभिवादन किया तो उन्हें उनका अभिवादन तो स्वीकार किया, लेकिन उन्हें देखा नहीं और साइड में देखना शुरु कर दिया जिसके बाद वह आगे बढ़ गईं। बता दें कि साध्वी प्रज्ञा चुनाव प्रचार के दौरान अपने बयानों को लेकर खूब सुर्खियों में रहीं थी। मालेगांव बम धमाके में जेल की सजा काट चुकी साध्वी प्रज्ञा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बता दिया था जिसको लेकर पूरे देश में जबरदस्त प्रतिक्रिया हुई और बाद में उन्हें अपने बयान पर खेद व्यक्त करते हुए इसे वापस लेना पड़ा।

विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने तुरंत एक बयान जारी कर साध्वी के इस बयान का खंडन किया और पीएम मोदी समेत पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं ने इस बयान को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। पीएम मोदी ने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में अपनी नाराजगी जताते हुए कहा था कि प्रज्ञा ठाकुर या जो भी इस तरह का बयान देगा उसे माफ नहीं करेंगे। भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान जारी किया गया था।

जिसमें पीएम मोदी के हवाले से कहा गया था कि महात्मा गांधी जी और नाथूराम गोडसे को लेकर जो भी बातें की गईं हैं, वो भयंकर खराब हैं। ये बातें पूरी तरह से घृणा के लायक हैं, सभ्य समाज के अंदर इस प्रकार की बातें नहीं चलती हैं। पीएम मोदी ने आगे कहा कि भले ही इस मामले में उन्होंने (साध्वी प्रज्ञा) माफी मांग ली हो, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी भी माफ नहीं कर पाऊंगा।

यहां क्लिक कर देखें वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here