PM मोदी के कार्यक्रम ‘मन की बात’ को पूरे हुए तीन साल, 36वीं बार देश को कर रहे हैं संबोधित

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की जनता को 36वें संस्करण में ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए एक बार फिर रविवार(24 सितंबर) को संबोधित कर रहे हैं। इस बार देशवासियों को पीएम मोदी का यह संबोधन कुछ खास है, क्योंकि ‘मन की बात’ कार्यक्रम के रविवार को तीन साल पूरे हो चुके हैं। मोदी ने खुद इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि ‘मन की बात’ को तीन साल हो गए हैं, इसके लिए मैं देशवासियों का आभारी हूं।पीएम ने कहा कि यह कार्यक्रम देश की सकारात्मक शक्ति से जुड़ने का अवसर दिया है। यह देश की मन की बात है, मेरे मन की बात नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे लोगों के सुझाव का खजाना मिलता है। कई बातें मुझे प्रेरणा देती है, कई सुझाव होते हैं।

उन्होंने कहा कि लोग अपनी बात मुझ तक पहुंचाते हैं। देश के कोने कोने से यह बात मुझतक पहुंचती है। तीन साल की यह यात्रा पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि मन की बात को राजनीति से दूर रखा है। उन्होंने कहा कि मैं आचार्य विनोबा भावे की बात को याद रखता हूं कि देशवासियों के लिए कार्यक्रम में राजनीतिक आक्रोश को दूर रखना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि मैंने हरियाणी के सरपंच के सेल्फी विद डॉटर देखा और देखते ही देखते एक अभियान चल पड़ा। उन्होंने कहा कि जब मैंने यात्रा पर जाने वाले लोगों से कहा कि आप जहां जाएं अतुल्य भारत की तस्वीरें भेजें। लोगों ने लाखों की संख्या में तस्वीरें भेजीं।

उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी में खादी का आकर्षण बढ़ा है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को रोजगार मिला है। इस अभियान को और आगे बढ़ाना है। खादी खरीदकर हम गरीब के घर में दिवाली का दीया जलाएं। मोदी ने कहा कि कश्मीर के पंपोर में बंद पड़ा खादी प्रशिक्षण केंद्र फिर से शुरू किया गया।

क्या है मन की बात?

दरअसल, प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी द्वारा शुरू किया गया यह एक मासिक रेडियो कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के जरिए पीएम लोगों से अपने मन की बात करते हैं और साथ ही लोगों से उनके सुझाव और देश में सिस्टम सुधार पर उनकी राय भी जानते हैं।

पीएम इस कार्यक्रम के जरिए लोगों के सुझावों को भी साझा भी करते हैं। इस कार्यक्रम को आकाशवाणी के सभी नेटवर्क और दूरदर्शन से सुबह 11 बजे प्रसारित किया जाता है। प्रधानमंत्री कार्यालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय तथा डीडी न्‍यूज के यू-ट्यूब चैनलों पर भी यह कार्यक्रम उपलब्‍ध रहता है।

पढ़िए, मन की बात की मुख्य बातें:-

  • पीएम ने कहा कि मैं श्रीनगर नगर निगम को सफाई को इतना बल देने के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने सफाई करने वाले बिलाल को सफाई का ब्रैंड एंबैसडर बनाया।
  • अक्टूबर महापुरुषों को याद करने का महीना है। गांधी जी, लालबहादुर जी, दीनदयाल जी, जय प्रकाश जी को याद करना चाहिए और उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए
  • पिछले महीने हमने तय किया था कि गांधी जयंती से पहले 15 दिन देशभर में स्वच्छता का उत्सव मनाएंगे।
  • राष्ट्रपति जी ने इस अभियान की शुरुआत की। इस दिशा में हर क्षेत्र के लोग काम कर रहे हैं।
  • स्वच्छता को अगर स्वभाव बनाना है तो वैचारिक आंदोलन जरूरी है। लोगों ने इसके लिए रचनात्मक काम किया।
  • गांधी जी, नाना जी देशमुख, जय प्रकाश नारायण जैसे लोग सत्ता के गलियारों से दूर रहे लेकिन लोगों से जुड़े रहे।
  • महापुरुषों का स्मरण करना उनके प्रति उपकार नहीं है। 31 अक्टूबर को पूरे देश में ‘रन फॉर यूनिटी’ के कार्यक्रम होने चाहिए।
  • विविधता का अनुभव करना जरूरी है। इसे जानना जरूरी है।
  • जब महापुरुषों ने भारत भ्रमण किया तो उन्हें पूरे देश के बारे में जानने को मिला। हमें देश की भिन्न-भिन्न विशेषताओं को जानने का प्रयास करना चाहिए।
  • मुझे हिंदुस्तान के 500 जिलों में जाने का मौका मिला था। आज मुझे चीजों को समझने में बहुत मदद मिलती है।
  • ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के लिए विविधता को समझना होगा। इस बार छुट्टियों में भारत भ्रमण करें।
  • यात्रा पर जहां जाएं वहां के अच्छे अनुभव हमें भेजें। क्या आप अपने राज्य के 7 उत्तम पर्टयन स्थल क्या हो सकते हैं। आपको वहां जाना चाहिए। इस बारे में आप हमें जानकारी दे सकते हैं क्या?
  • पर्टयन स्थलों की जानकारी भारत सरकार को भेजें। आपके द्वारा चुनी हुई जगहों को सरकार स्वीकार करेगी।
  • एक इंसान के नाते कई बातें मेरे दिल को छू जाती है। पिछले दिनों हमने महिला शक्ति की अनूठी मिसाल देखी। लेफ्टिनेंट स्वाति और निधि के रूप में भारतीय सेना को दो वीरांगनाएं मिली हैं।
  • शहीद की पत्नियों ने पति का सपना पूरा करने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की।
  • FIFA अंडर 17 वर्ल्डकप यहां हो रहा है। पूरा विश्व जब भारत की धरती पर खेलने के लिए आ रहा है तो हम भी खेल को अपना बनाएं।
  • नवरात्रि शक्ति की आराधना का पर्व है। मैं देशवासियों को शुभकामनाएं देता हूं।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here