‘अब बलात्कारियों को सात से 11 दिन में हो रही फांसी’, पीएम मोदी के इस बयान पर भड़के सोशल मीडिया यूजर्स, उमर अब्दुल्ला ने भी उठाए सवाल

1

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (30 जनवरी) को सूरत में एक कार्यक्रम के दौरान बलात्कार के दोषियों से जुड़ा ऐसा बयान दे दिया कि इसको लेकर वो सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए है। सूरत में एक सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार में बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा दी जा रही है।

पीएम मोदी
फोटो: @PIB_India

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा था कि, ‘इस देश में पहले भी बलात्कार हुआ करते थे, यह शर्म की बात है कि आज भी ऐसी घटनाएं सुनने को मिलती हैं। मगर अब दोषियों को तीन दिन, सात दिन, 11 दिन और एक महीने के अंदर फांसी की सजा दी जा रही है। बेटियों को न्याय दिलाने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं, इसके नतीजे भी नजर आ रहे हैं।’

हालांकि, अपने इस बयान को लेकर पीएम मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए। लोगों ने पीएम के इन दावों को झूठा करार दिया है। लोगों ने पूछा कि क्या वह एक भी ऐसा व्यक्ति का नाम बता सकता है जिसे उनके शासनकाल में बलात्कार के लिए 3 दिन या 7 दिनों के भीतर फांसी दी गई हो?

पीएम मोदी के इस बयान पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने हमला बोला है। पीएम के इस बयान को संगीतकार विशाल ददलानी ने भी झूठा करार दिया है।

विशाल ददलानी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘झूठ! एक भी बलात्कारी का नाम बताए जिसे उनके शासनकाल में फांसी की सजा दी गई हो। सर, निर्भया का बलात्कारी, आसिफा का बलात्कारी, यहां तक उन्नाव में बच्ची संग बलात्कार के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर अभी तक जिंदा हैं।’ ददलानी ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, ‘मोदी जी हम जानते हैं चुनाव करीब है, मगर भारतीय महिलाओं और बच्चियों के दर्द को प्रचार में मत बदलो।’

वहीं, आम आदमी पार्टी (आप) कार्यकर्ता अमित मिश्रा ने लिखा, “झूठ बोलने में अगर कोई राष्ट्रपति अवार्ड होता तो नरेंद्र मोदी जी को बुलाकर सर्वसम्मति से यह अवार्ड दिया जाता।” बता दें कि इसी तरह तमाम सोशल मीडिया यूजर्स पीएम मोदी के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहें है।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here