PM मोदी ने सस्ती ‘उड़ान’ सेवा की शुरुआत की, अब 2500 रुपये में करिए 500 किमी तक हवाई सफर

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार(27 अप्रैल) को शिमला में बहुप्रतीक्षित सबसे सस्ती हवाई सेवा ‘उड़ान’ की शुरुआत की। इस दौरान पीएम ने शिमला-दिल्ली मार्ग पर पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाई। मात्र 2500 रुपए में 500 किलोमीटर की हवाई सफर वाली क्षेत्रीय संपर्क योजना ‘उड़ान’ (उड़े देश का आम नागरिक) की पहली उड़ान शिमला से दिल्ली के लिए रवाना हुई। इसका परिचालन एयर इंडिया की अनुषंगी कंपनी एलायंस एयर करेगी। कंपनी ने इस मार्ग पर अपने 42 सीटों की क्षमता वाले एटीआर विमान को लगाया है।

साथ ही साथ मोदी ने कडप्पा-हैदराबाद और नांदेड-हैदराबाद के बीच भी इस योजना के तहत उड़ान सेवाओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना उड़ान के माध्यम से सरकार का लक्ष्य 45 गैर-सेवा या कम-सेवा वाले हवाईअड्डों के बीच हवाई यातायात को बेहतर बनाना है। इसके लिए एक घंटे की अवधि वाली उड़ान के लिए 2,500 रपये प्रति सीट का किराया तय किया गया है।

Also Read:  स्त्री को स्वतंत्रता की नहीं, संरक्षण और चैनलाइजेशन की आवश्यकता है: योगी आदित्यनाथ

बता दें कि ‘उड़ान’ स्कीम की शुरुआत गत वर्ष अक्टूबर 2016 में रीजनल कनेक्टिवटी स्कीम (RCS) के तहत की गई थी। इस महत्वाकांक्षी योजना का मकसद हवाई उड़ान को छोटे शहरों तक पहुंचाना और इसे किफायती बनाना है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि युवाओं को अगर मौके दें तो वे तकदीर और तस्वीर बदल देंगे।

उन्होंने कहा कि पूरा विश्व मानता है कि हवाई यात्रा के लिए सबसे ज्यादा अवसर भारत में हैं। पीएम ने आम नागरिक के लिए सरकार के ‘उड़ान योजना’ के बारे में बताते हुए कहा कि वह चाहते हैं हवाई चप्पल पहने आम आदमी हवाई सफर करे।

बता दें कि उड़ान(UDAN) स्कीम पूरी तरह से क्षेत्रीय सम्पर्क योजना (आरसीएस) पर केंद्रित है और वैश्विक रूप से अपनी तरह की पहली योजना है। उड़ान का अर्थ है- उड़े देश का आम नागरिक। इस योजना की खास बात यह है कि अब आप 2500 रुपये 500 किलोमीटर तक की हवाई सफर कर सकेंगे।

Also Read:  कपिल मिश्रा का बड़ा आरोप, कहा- सत्येंद्र जैन ने मेरे सामने अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ रुपये दिए

‘उड़ान’ योजना का उद्देश्य छोटे शहरों के आम नागरिकों को सस्ते दर पर हवाई सेवाएं मुहैया कराना है। इसके तहत फिक्स विंग विमानों के मामले में यात्रा की अवधि अधिकतम एक घंटे तथा हेलीकॉप्टर के मामले में आधा घंटे मानी गई है। ‘उड़ान’ की उड़ानें देश के 70 हवाई अड्डों से होंगी।

उड़ान योजना को पिछले साल अक्टूबर 2016 में लॉन्च किया गया था। ये राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति (एनसीएपी) की एक प्रमुख योजना है। इस योजना के तहत सरकार का इरादा 45 ऐसे हवाई अड्डों को जोड़ने का है, जहां से कम उड़ानें संचालित होती हैं।

Also Read:  उत्तराखंड के तीन हजार गांवों में नही है एक भी वोटर, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया में हवाई सफर का सबसे ज्यादा स्कोप भारत में है। लेकिन देश में आज कोई एविएशन पॉलिसी नहीं है। उन्होंने कहा कि एक पॉलिसी बनाएं और सभी कंपनियों को इसमें कसें। मुझे खुशी है कि हमारी सरकार ने इसे बनाने का फैसला किया है।

मोदी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि हवाई जहाज में हवाई चप्पल वाले लोग दिखाई दें। पीएम ने कहा कि आजादी के बाद आज सिर्फ 70-75 एयरपोर्ट ही हैं, जो कमर्शियल एक्टिविटी के इस्तेमाल हो रहे हैं। करीब नए 70 एयरपोर्ट शुरू होंगे। टायर-2 के शहरों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here