73वां स्वतंत्रता दिवस: लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी का भाषण, जानिए क्या-क्या कहा

0

देश आज 73वें स्वतंत्रता दिवस के जश्न में डूबा हुआ है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज (गुरुवार को) लाल किले की प्राचीर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। सफेद कुर्ता और चूड़ीदार पायजामा तथा तीन रंगों वाला साफा पहने मोदी जब समारोह स्थल पर पहुंचे तो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनका स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने सलामी गारद का निरीक्षण किया। पीएम अब देश को संबोधित को रहे हैं। बता दें कि, लाल किले पर पहुंचने से पहले पीएम मोदी राजघाट गए और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

मोदी

लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम सबका साथ-सबका विकास का मंत्र लेकर चले थे, लेकिन पांच साल में यह सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास हो गया है, और यह देश की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा कि अब हम संकल्प से सिद्धी की ओर बढ़ रहे हैं।

आर्टिकल 370 पर पढ़िए क्या बोले पीएम मोदी

आर्टिकल 370 और 35 ए… हम न समस्याओं को टालते हैं, न समस्याओं को पालते हैं। न समस्याओं को पालने और न टालने का वक्त है। जो काम 70 साल में नहीं हुआ, वह नई सरकार बनने के 70 दिन के भीतर किया गया। संसद के दोनों सदनों ने 2 तिहाई बहुमत से इसको पारित कर दिया। हर किसी के दिल में यह बात पड़ी थी, लेकिन शुरू कौन करे, आगे कौन आए, शायद उसी की इंतजार था। इसलिए देशवासियों ने मुझे यह काम दिया। आपने जो काम दिया, उसी को करने के लिए आया। मेरा अपना कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि घाटी के लोगों को कई सुविधाओं का फायदा नहीं मिल पा रहा था, वहां पर भ्रष्टाचार, अलगाववाद ने अपने पैर जमा लिए थे।

जनसंख्या नियंत्रण पर भी बोले पीएम

पीएम मोदी ने जनसंख्या नियंत्रण पर जोर देते हुए कहा कि हमारे यहां बेतहाशा जो जनसंख्या विस्फोट हो रहा है, यह जनसंख्या विस्फोट हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए अनेक संकट पैदा करता है। यह बात माननी होगी कि देश में एक जागरूक वर्ग है, जो इस बात को भली भांति समझता है। वह अपने घर में शिशु को जन्म देने से पहले भली भांति सोचता है कि मैं उसके साथ न्याय कर पाऊंगा। स्वयंप्रेरणा से एक छोटा वर्ग परिवार को सीमित करता है अपने परिवार को भी भला करता है, और देश का भी भला करता है। छोटा परिवार को रखकर वह देशभक्ति को अभिव्यक्त करते हैं। ऐसे लोग सम्मान के अधिकारी हैं।

लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने देशवासियों से डिजिटल पेमेंट करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा, “डिजिटल पेमेंट को हां, नकद को ना’ क्या हम इसे अपना आदर्श बना सकते हैं? आइए हम पूरे देश में डिजिटल भुगतान का उपयोग बढ़ाएं।”

पीएम मोदी ने कहा, “भारत में बहुत कुछ है। मुझे पता है कि लोग छुट्टियों के लिए विभिन्न देशों की यात्रा करते हैं, लेकिन क्या हम 2022 से पहले भारत में कम से कम 15 पर्यटन स्थलों पर जाने के बारे में सोच सकते हैं, जब हम आजादी के 75 साल पूरे करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here