लद्दाख में चीन से हुई झड़प पर बोले पीएम मोदी- भारतीय सैनिकों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देंगे

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (16 जून) को कहा कि लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देंगे। बता दें कि, पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ सोमवार की शाम हुई झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे।

लद्दाख

कोरोना वायरस महामारी पर मुख्यमंत्रियों के साथ डिजिटल बैठक के दूसरे दिन अपने बयान में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत शांति चाहता है लेकिन उकसाए जाने पर मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए, देश की एकता और संप्रभुता सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा कोशिश की है कि मतभेद विवाद न बनें। इसके बाद प्रधानमंत्री और बैठक में शामिल लोगों ने शहीद सैन्यकर्मियों के सम्मान में कुछ मिनट का मौन रखा।

उन्होंने कहा कि मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे लिए भारत की अखंडता और संप्रुभता सर्वोच्च है और इसकी रक्षा करने से हमें कोई रोक नहीं सकता। इस बारे में किसी भी जरा भी संदेह नहीं होना चाहिए।

गौरतलब है कि, पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात को चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के कुल 20 सैनिक शहीद हो गए। इस घटना से पहले से जारी गतिरोध की स्थिति और गंभीर हो गई है। पिछले पांच दशक से भी ज्यादा समय में सबसे बड़े सैन्य टकराव के कारण क्षेत्र में सीमा पर पहले से जारी गतिरोध और भड़क गया है।

इससे पहले सेना ने शुरू में कहा कि एक अधिकारी और दो सैनिक शहीद हुए। लेकिन, देर शाम बयान में कहा गया कि 17 अन्य सैनिक “जो अत्यधिक ऊंचाई पर शून्य से नीचे तापमान में गतिरोध के स्थान पर ड्यूटी के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे, उन्होंने दम तोड़ दिया है। इससे शहीद हुए सैनिकों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है।” (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here