सोशल मीडिया पर वायरल हुआ PM मोदी और BJP कार्यकर्ता की बातचीत का ऑडियो, पढ़िए- दोनों के बीच क्या हुई बातचीत?

0

चुनाव आयोग ने गुजरात में चुनाव के तारीखों की घोषणा कर दी है। राज्य में दो चरणों नौ और 14 दिसंबर को मतदान होंगे और मतगणना 18 दिसंबर को होगी। दरअसल गुजरात का चुनाव सत्ताधारी बीजेपी और विपक्षी दल कांग्रेस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण हैं। बीजेपी के पास जहां सरकार बचाने की चुनौती है वहीं कांग्रेस अपना पुराना गौरव हासिल करने के लिए प्रयासरत है।

File Photo: @NarendraModi

बीजेपी राज्य में लगातार पांचवीं जीत दर्ज करना चाहती है। उसके लिए जीत प्रतिष्ठा का सवाल बना हुआ है। क्योंकि गुजरात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का गृह राज्य है। वहीं दूसरी तरफ, कांग्रेस की तरफ से उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी एड़ी-चोटी का जोर एक किए हुए हैं। चुनाव में इस बार कांग्रेस की निगाहें पटेल, ओबीसी और दलित वोटरों पर टिकी हुई है।

चुनाव को लेकर PM मोदी पूरी तरह गंभीर

गुजरात चुनाव को लेकर पीएम मोदी पूरी तरह से गंभीर हैं। पीएम ने अपने गृह राज्य गुजरात की पांच बार यात्रा की है। इतना ही नहीं पीएम मोदी अब गुजरात की जनता के साथ-साथ पार्टी के छोटे से छोटे कार्यकर्ताओं से भी संपर्क स्थापित कर रहे हैं। इसी को लेकर उन्होंने खुद दिवाली के दिन पार्टी के एक आम कार्यकर्ता गोपालभाई गोहिल से बातचीत की। दोनों के बीच बातचीत का ऑडियो व्हाट्सएप्प पर वायरल हो गया है।

जी हां, वड़ोदरा के बीजेपी कार्यकर्ता और कारोबारी गोपालभाई गोहिल को दिवाली की शाम ऐसा तोहफा मिला कि उनका परिवार उस दिन के बाद से सातवें आसमान पर है। गोपालभाई गोहिल का परिवार इस बात को चाहकर भी भूल नहीं पा रहा कि दिवाली की रात देश के प्रधानमंत्री ने खुद उनसे फोन कर बात की। इंडिया टुडे के मुताबिक गुजरात के वड़ोदरा में रहने वाले गोहिल को पीएम मोदी ने 19 अक्तूबर की शाम लगभग 4:30 फोन किया।

पीएम मोदी ने करीब 10 मिनट तक गोहिल और उनकी पत्नी से बातचीत की। यह पूरी बातचीत गुजराती में हुई है। इस दौरान पीएम मोदी ने गोहिल से बेहद अपनेपन और सामान्य तरीके से बातचीत कर रहे हैं। पीएम मोदी ने गोहिल से बतौर पीएम नहीं, बल्कि एक मित्र की तरह बातचीत की।

गोहिल की वडोदरा में एक स्टेशनरी की दुकान है। वह वार्ड स्तर के बीजेपी कार्यकर्ता हैं। इंडिया टुडे से बातचीत में गोहिल ने दिवाली पर अपनी बातचीत के बारे में कहा कि मोदी जी की सबसे बड़ी खूबी यही है कि वह किसी बीजेपी कार्यकर्ता से एक बार भी मिले हों तो उसे भूलते नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारी तो लॉटरी निकल गई।

यहां पढ़‍िए दोनों के बीच क्या हुई बातचीत:-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: हैलो

गोपालभाई गोहिल: नमस्ते साहेब।

पीएम: नमस्ते गोपालभाई, कैसे हैं आप?

गोहिल: मैं अच्छा हूं सर, हैप्पी दिवाली साहेब।

पीएम: आपके सभी प्रियजनों को दिवाली की शुभकामना।

गोहिल: धन्यवाद साहेब, इस मौके पर मैं गुजरात की सांस्कृतिक राजधानी वडोदरा की सभी जनता की तरफ से आपको दिवाली की शुभकामना देता हूं।

पीएम: अरे, वडोदरा का मैं काफी ऋणी हूं, यहां से मुझे इतना मान-सम्मान और प्यार मिला है कि पूछो नहीं। मैं वडोदरा के प्रति कृतज्ञ हूं। आप अभी भी स्टेशनरी की दुकान चला रहे हैं या कुछ नया काम शुरू किया है?

गोहिल: साहेब, मैं और मेरी पत्नी खांदेराव मार्किट में व्रज सिद्ध‍ि टावर के पास स्टेशनरी की दुकान अब भी चलाते हैं। इसके पहले आपने वडोदरा के राजमहल रोड पर जब रोड शो किया था, तो मैंने आपको देखा था।

पीएम: मुझे वह दिन याद है प्रिय मित्र।

गोहिल: सर मैं आपसे एक सवाल करना चाहता हूं। गुजरात की हाल की घटनाओं और कांग्रेस पार्टी के दुष्प्रचार के दौर में हम अपने कार्यकर्ताओं को इससे प्रभावित होने से कैसे बचाएं?

पीएम: देखो, जनसंघ के जन्म के समय से ही, दुर्भाग्य से हमें ऐसे दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ रहा है। दुर्व्यवहार और अपमान तो जबसे हमने राजनीति में कदम रखा, हमारी तकदीर में लिख दिया गया है। हर समय हमें ऐसे दुष्प्रचार और अपमान से निपटने में सफलता मिली है। इसलिए मेरी यही सलाह है कि ऐसी नकारात्मक बातों की चिंता न करो।

गोहिल: सही बात है।

पीएम: क्या आप मुझे एक भी चुनाव ऐसा बता सकते हैं, जिसमें झूठ और आलोचना का असर न रहा हो?

गोहिल: बिल्कुल सही बात है सर। सच तो यह है कि पहले भी कांग्रेस ऐसा करती रही है।

पीएम: उन्होंने तो मुझे ‘मौत का सौदागर’ तक कह डाला, आपको याद है?

गोहिल: जी सर।

पीएम: अब बताओ, इससे भी बदतर कोई चीज हो सकती है? ‘हत्यारा’, ‘खून से सने हाथ’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल मेरे लिए किया गया। लेकिन लोग समझदार हैं और सच जानते हैं।

गोहिल: जी सर।

पीएम: पहले अफवाह एक कान से दूसरे कान तक फैलते थे, अब यह व्हाट्सएप्प जैसे अप्लीकेशंस से फैलाए जाते हैं। उन्हें झूठ फैलाने दो। लोग अंतर समझते हैं। इसलिए अफवाह या नकारात्मक प्रचार अभियान से परेशान न हों।

गोहिल: जरूर सर।

पीएम: अपने दिमाग पर इन सब चीजों का असर न होने दो। इसकी जगह हमारी दृष्टि और सच को प्रसारित करने पर ध्यान केंद्रित करो। दूसरों द्वारा फैलाई गई अफवाहों, गॉशि‍प और झूठ पर अपना समय बर्बाद न करो।

गोहिल: जी सर।

पीएम: ऐसी तुच्छ बातों को नजरअंदाज करना आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण है। आमतौर पर होता क्या है कि लोग बिना सोचे-समझे ऐसे फर्जी संदेशों को लोगों को फॉरवर्ड कर देते हैं। हमें इससे परेशान नहीं होना चाहिए, क्योंकि हम लोग एक अच्छे कार्य के लिए कठोर मेहनत कर रहे हैं और सच्चाई के रास्ते पर चल रहे हैं।

गोहिल: जी सर।

पीएम: मैं फिर से जोर देकर कह रहा हूं, सच को फैलाने पर ध्यान केंद्रित करें और नकारात्मकता से प्रभावित न हों। हमने लोगों के कल्याण के लिए खून-पसीना बहाया है, इसलिए हमें ऐसी चीजों से परेशान नहीं होना चाहिए। बीजेपी काफी समय से सत्ता में है और हमारे खिलाफ अब तक किसी भी तरह का आरोप नहीं लगा है।

गोहिल: सही बात है सर, हमारे खिलाफ अब तक किसी तरह का आरोप नहीं लगा है।

पीएम: जब हम इतने पारदर्शी हैं, तो हमारे खिलाफ झूठ कैसे फैला सकते हैं? हम हमेशा सही रास्ते पर चले हैं, इसलिए आत्मविश्वास बनाए रखिए। सच को प्रसारित करने की जरूरत है।

गोहिल: निश्चित रूप से सर।

पीएम: आपसे बात कर बहुत अच्छा लगा। अपने परिवार में सभी लोगों को मेरी तरफ से दिवाली की शुभकामना दीजिएगा।

गोहिल की पत्नी: सर, हमें आपका इंतजार रहेगा।

पीएम: नमस्ते-नमस्ते।

गोहिल: सर हमसे मिलिएगा, हमें बहुत खुशी होगी।

पीएम: निश्च‍ित रूप से, मैं 22 अक्टूबर को वडोदरा आ रहा हूं।

गोहिल: हम सब तैयार हैं, बीजेपी के लिए 150 सीटें दिलाना हमारी तरफ से दिवाली गिफ्ट होगा। नमस्कार सर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here