लोकसभा चुनाव जीतने के बाद पहली बार वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी, काशी विश्वनाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना

0

लोकसभा चुनाव में मिली प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले नरेंद्र मोदी सोमवार (27 मई) वाराणसी पहुंच गए हैं। इस दौरान वह कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करेंगे। इस वक्त वह काशी विश्वनाथ मंदिर में मौजूद हैं, जहां वह भगवान शिव की आराधना कर रहे हैं। इसके बाद वह दीनदयाल हस्तकला संकुल में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक भी करेंगे। प्रचंड बहुमत के साथ दोबारा प्रधानमंत्री पद ग्रहण करने से पहले पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे और जनता का आभार व्यक्त करेंगे।

पीएम मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ अपनी ‘आभार यात्रा’ की शुरुआत करेंगे। विधिविधान से पूजन कर वह बड़ालालपुर स्थित पंडित दीन दयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल जाएंगे, जहां उनके सम्मान में आयोजित अभिनंदन समारोह में पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित कर उनका आभार व्यक्त करेंगे। इस अवसर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डॉ0 महेंद्र नाथ पांडेय, प्रदेश के कई मंत्री समेत अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

सत्रहवीं लोक सभा चुनाव में भाजपा एवं राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को ऐतिहासिक जीत दिलाने वाले मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में करीब तीन घंटे रहेंगे। इस दौरान पुलिस लाइन से काशी विश्वनाथ मंदिर तक की सड़क यात्रा के दौरान उनके जोरदार स्वागत की तैयारियां की गई हैं। दूसरी बार भारी मतों से वाराणसी से जीत का कीर्तिमान स्थापित करने के बाद यहां की जनता का आभार व्यक्त करने पहुंचे मोदी का फूलों की बारिश कर जगह-जगह स्वागत किया गया।काशी विश्वनाथ मंदिर को विशेष तरीके सजाया गया हैं।

बता दें कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। यह उनका दूसरा कार्यकाल होगा। साथ ही, मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्यों को भी पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई जाएगी। मोदी भाजपा के ऐसे पहले नेता हैं जिन्हें प्रधानमंत्री के रूप में पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद दूसरी बार भी इस पद के लिए चुना गया है।

साथ ही जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मोदी पूर्ण बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सत्ता के शिखर पर पहुंचने वाले तीसरे प्रधानमंत्री हैं। भाजपा से अटल बिहारी वाजपेयी भी लगातार दो कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री चुने गए थे लेकिन उनका पहला कार्यकाल सिर्फ एक साल सात महीने का रहा था। मोदी के दूसरे कार्यकाल के मंत्रियों के नामों का अभी खुलासा नहीं हुआ है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here