VIDEO: राफेल पर सवाल से भड़के पीएम मोदी, राहुल गांधी बोले- ‘आपका कर्म आपका पीछा नहीं छोड़ने वाला’

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार (7 अप्रैल) को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बहस करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर से चुनौती दी। प्रधानमंत्री मोदी ने एबीपी न्यूज़ चैनल को इंटरव्यू दिया था जिसका एक वीडियो क्लिप कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्विटर पर साझा किया है, जिसमें पीएम मोदी नाराजगी व्यक्त करते हुए इंटरव्यू ले रहे एंकर से यह पूछते दिख रहे हैं कि फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान समझौते पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले में उन्हें भरोसा है या नहीं?

इस वीडियो को शेयर करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘श्री मोदी आप भाग सकते हैं लेकिन आप छिप नहीं सकते हैं। आपका कर्म आपका पीछा नहीं छोड़ने वाला है। देश आपकी आवाज में इसे सुन सकता है।’’ उन्होंने लिखा है, ‘‘सच बहुत ताकतवर है। मैं आपको भ्रष्टाचार पर बहस करने की चुनौती देता हूं।’’

कांग्रेस अध्यक्ष ने इससे पहले पार्टी मुख्यालय में कांग्रेस के घोषणा पत्र के जारी किए जाने के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए दो अप्रैल को प्रधानमंत्री को राष्ट्रीय सुरक्षा, भ्रष्टाचार और विदेश नीति पर बहस करने की चुनौती दी थी।विपक्षी पार्टी नये राफेल सौदे पर मोदी सरकार की लगातार आलोचना करती आ रही है। उसका कहना है कि संप्रग सरकार के दौरान विमान सौदे के लिए हुई बातचीत से नया सौदा महंगा है जिसमें भ्रष्टाचार हुआ है।

कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया है कि इस सौदे में अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया गया है।हालांकि सरकार ने राफेल समझौते में किसी प्रकार की गड़बड़ी से इंकार किया है और अंबानी ने भी सभी आरोपों को खारिज कर दिया है।

राफेल पर सवाल से भड़के पीएम मोदी

दरअसल, एबीपी न्यूज पर इंटरव्यू के दौरान राफेल पर कांग्रेस द्वारा उठाए जा रहे सवालों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भड़क गए। पीएम मोदी ने इस दौरान एंकर के अलावा चैनल पर भी अपनी भड़ास निकाली थी। इंटरव्यू के दौरान एंकर ने पूछा, “क्या ये झूठ है कि आपने राफेल का सौदा करवाकर अनिल अंबानी को फायदा नहीं पहुंचाया है?”

इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा, “आप सुप्रीम में भी भरोसा नहीं करोगे। यदि एबीपी न्यूज भी सुप्रीम कोर्ट में भरोसा नहीं करेगी तो उससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है? आप सीएजी पर भरोसा नहीं करोगे क्या? आप फ्रांस के राष्ट्रपति की बात को नहीं मानोगे? भारत सरकार ने पार्लियामेंट में इतने शब्द कहे, उसे भी नहीं मानोगे? आप इतने बायस हैं। आज मैं सीधा एबीपी पर आरोप लगाता हूं। मेरा आरोप ये है कि एक झूठ, जो कहीं सिद्ध नहीं हुआ, झूठ बोलने वाले से सवाल पूछने की आपको हिम्मत नहीं है।”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “इतने बड़े स्वतंत्र मीडिया की बात करने वाले लोगों ने छह महीने से चल रहे झूठ के बारे में एक सवाल नहीं पूछा है। हमने संसद में सारे जवाब दिए हैं, फिर भी आपमे पूछने की हिम्मत नहीं आयी। क्या मजबूरी है, आप जानें। कहीं किसी कोने में भी, सोशल मीडिया में एक-आध चीज बुरी आ जाए, तो आप 24 घंटे का हेडलाइन न्यूज बनाते हैं। लेकिन पिछले 10 दिन में ऑनलाइन मैगजीन में इस परिवार (गांधी) के उपर सबूतों के साथ भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जो ऑनलाइन उपलब्ध है। उसमें सबूत के स्त्रोत भी लिखे हुए हैं।”

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “कल देश के वित्त मंत्री (अरुण जेटली) ने इस ऑनलाइन रिपोर्ट के आधार पर प्रेस कांफ्रेंस की, आपके चैनल ने उसका ब्लैक आउट किया। आपके चैनल में इस पर चर्चा नहीं की गई। आप एक झूठी खबर के लिए इस देश के प्रधानमंत्री से सवाल पूछने के लिए हिम्मत कर सकते हैं। हम आपके सवाल का स्वागत करते हैं लेकिन आपका चैनल वित्त मंत्री के प्रेस कांफ्रेंस का ब्लैक आउट करता है। आप उस परिवार से क्यों नहीं जवाब मांगते हैं, क्या मजबूरी है आपकी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here