लोकसभा चुनाव: पीएम नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र की रैली में ‘झूठ’ का लिया सहारा, हिंदुओं को भड़काकर मांगा वोट

1

महाराष्ट्र के वर्धा में मतदाताओं को लुभाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (1 अप्रैल) को एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए हिंदू-मुसलमान के नाम पर वोट मांगने हुए एक झूठ का सहारा लिया। इस दौरान उन्होंने हिंदू मतदाताओं को कांग्रेस के खिलाफ भड़काने की पूरी कोशिश की। रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने देश के करोड़ों लोगों का रिश्ता आतंकवाद से जोड़ दिया था। अब लोग जाग गए हैं तो वे भाग रहे हैं। उनका इशारा सीधे तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी के अलावा केरल की वायनाड से चुनाव लड़ने की ओर था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उसने शांतिप्रिय हिंदुओं पर आतंकवादी होने का ठप्पा लगाने और धर्म मार्ग पर चलने वालों को अपमानित करने का काम किया है। महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द ईजाद किया। उन्होंने कहा, ‘‘उस पार्टी (कांग्रेस) के नेता अब बहुसंख्यक (हिंदू) आबादी वाली सीटों से चुनाव लड़ने से डर रहे हैं।’’

उनका निशाना कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर था, जो अपनी परंपरागत सीट अमेठी (उत्तर प्रदेश) के अलावा केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द का प्रयोग किया… उसने शांतिप्रिय हिंदुओं पर आतंकवादी होने का ठप्पा लगाया… क्या हिंदू आतंकवाद की एक भी घटना हुई है?’’

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने हिंदुओं का अपमान किया… जनता ने इस चुनाव में उसे दंडित करने का निर्णय लिया है.. इसलिए वह बहुसंख्यक आबादी वाले क्षेत्रों (अमेठी) से उम्मीदवार उतारने में डर रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हिंदू जाग गए हैं। यही कारण है कि वह एक निर्वाचन क्षेत्र (वायनाड) में शरण लेने के लिए मजबूर है, जहां बहुसंख्यक समुदाय अल्पमत में है।’’

बता दें कि केरल के वायनाड में हिंदुओं की आबादी के बारे में पीएम मोदी के इस दावे का सच्चाई से दूर दूर तक कोई नाता नहीं है। पीएम का यह बड़ा झूठ मुकेश अंबानी के चैनल News 18 इंडिया के लिए काम करने वाले एंकर अमीश देवगन के ठीक एक दिन बाद आता है, जिन्हें ट्विटर पर झूठ को लेकर निंदा का सामना करना पड़ा। एंकर के बाद अब पीएम मोदी की भी सोशल मीडिया पर आलोचना शुरू हो गई है।

पीएम मोदी के इस साल के लोकसभा चुनावों में सांप्रदायिक रंग जोड़ने के प्रयासों के विपरीत 2011 की जनगणना के अनुसार, वायनाड की कुल आबादी 8.17 लाख है। उनमें से 4.04 लाख हिंदू हैं जो जिले में कुल आबादी का लगभग 50 प्रतिशत होता है। जबकि मुस्लिम आबादी 2.34 लाख है, जो यहां रहने वाले लोगों की कुल संख्या का 28.65 प्रतिशत है। वहीं, 1.74 लाख जनसंख्या के साथ ईसाई तीसरा सबसे बड़ा धार्मिक समूह था, जो जिले में रहने वाले लोगों की कुल संख्या का 21.34 प्रतिशत है।

Narendra Modi stoops to new low, says Rahul Gandhi chose Wayanad seat because Hindus are in minority there. This is an utter lie. Will Election Commission take action against him?

Posted by Janta Ka Reporter on Monday, April 1, 2019

 

1 COMMENT

  1. शीर्षक गलत है। अगर शक है तो ECI से पूछ लो – किसी को नहीं भड़काया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here