VIDEO: क्या PM मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को किया नजरअंदाज? सोशल मीडिया पर भड़के लोग

0

त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रदेश अध्यक्ष बिप्लब कुमार देब ने शुक्रवार (9 मार्च) को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। अगरतला के असम राइफल्स मैदान में उन्होंने राज्य के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। उन्हें राज्यपाल तथागत रॉय ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके साथ ही वरिष्ठ आदिवासी नेता जिष्णुदेव बर्मन (भाजपा) ने उपमुख्यमंत्री के रूप में और सात अन्य मंत्रियों ने भी पद एवं गोपनीयता की शपथ ली।शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित बीजेपी के कई बड़े नेताओं व मुख्यमंत्री मौजूद रहे। समारोह में त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार भी शामिल हुए। बता दें कि बीजेपी के मुख्यमंत्री बनते ही वामपंथ के सबसे मज़बूत गढ़ रहे इस राज्य में करीब चौथाई सदी पुराने मार्क्सवादी युग का पटाक्षेप हो गया।

बता दें कि त्रिपुरा में बीजेपी ने स्पष्ट बहुमत हासिल कर राज्य में 25 साल से काबिज वाम मोर्चे को सत्ता से बाहर कर दिया है। त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा की 59 सीटों के चुनाव परिणामों में बीजेपी और उसकी सहयोगी इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) को दो तिहाई से अधिक बहुमत मिला है। बीजेपी ने 35 जबकि उसकी गठबंधन सहयोगी आईपीएफटी ने आठ सीटों पर जीत दर्ज की है।

राज्य की 60 विधानसभा सीटों में से 59 पर 18 फरवरी को मतदान हुआ था। एक सीट पर माकपा उम्मीदवार के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिया गया था। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने बनमालीपुर सीट पर जीत हासिल की है। पिछले 25 साल से सत्ता पर काबिज मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) इस बार 16 सीटों पर सिमट गई है। वाम मोर्चे के लिए यह अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन है।

PM मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को किया नजरअंदाज?

इस बीच शपथग्रहण समारोह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में सोशल मीडिया यूजर्स का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को कथित तौर पर नजरअंदाज किया है। लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी ने आडवाणी का अपमान किया है।दरअसल, वायरल हो रहे वीडियो में पीएम मोदी मंच पर उपस्थित पार्टी के सभी नेताओं और मंत्रियों के अभिवादन को स्वीकार करते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन इस दौरान उन्होंने आडवाणी के अभिवादन को कथित तौर पर नजरअंदाज कर दिया।

हालांकि आडवाणी के बगल में खड़े राज्य के पूर्व सीएम माणिक सरकार के साथ हाथ में हाथ डालकर बातचीत करते दिखाई दे रहे हैं। समाचार एजेंसी ANI द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में दिख रहा है कि पीएम मोदी मंच पर बैठे नेताओं को नमस्कार करते हुए गुजर रहे हैं। मंच पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और त्रिपुरा के पूर्व सीएम मानिक सरकार समेत कई दूसरे नेता मौजूद थे।

वीडियो में पीएम मोदी सभी के अभिवादन को स्वीकार करते हुए आगे बढ़ते हुए दिख रहे हैं। पीएम मोदी जब लालकृष्ण आडवाणी के सामने पहुंचे तो उन्होंने भी हाथ जोड़ा। लेकिन पीएम उन्हें कथित तौर नजरअंदाज कर आगे बढ़ते रहे और वह सीधे आडवाणी के बगल में बैठे माणिक सरकार के पास पहुंचे। पीएम मोदी ने माणिक सरकार से गर्मजोशी से हाथ मिलाया और उनसे बातें भी कीं। इसके बाद पीएम मोदी मुरली मनोहर जोशी की ओर बढ़े और दोनों ने एक दूसरे को नमस्कार किया।

देखिए कैसे सोशल मीडिया पर लोगों ने PM मोदी पर साधा निशाना:-

https://twitter.com/_VinodDua/status/972030674214387712

https://twitter.com/SkepticHindu/status/972032116677488641

https://twitter.com/aseem4all/status/972048823190204416

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here