‘मोदी जी को उपवास नही, वनवास की ज़रूरत है’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के तमाम नेताओं द्वारा किए गए उपवास को लेकर बीजेपी विपक्षी पार्टियों के निशाने पर आ गई है। इसी बीच, आम आदमी पार्टी (आप) के प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने पीएम मोदी पर जोरदार तंज कसा है। उन्होंने पीएम को रिटायरमेंट लेने तक की हिदायत दे दी।

बीजेपी
file photo

दरअसल, आप नेता संजय सिंह ने गुरुवार(13 अप्रैल) को ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘मोदी जी को उपवास नही, वनवास की ज़रूरत है’। इस ट्वीट के साथ उन्होंने पीएम मोदी के उस भाषण की का एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें पीएम मोदी उपवास करने वालों पर तंज कस रहे थे।

बता दें कि, इससे पहले एक अन्य ट्वीट में आप नेता संजय सिंह ने लिखा था कि, ‘देश की जनता को प्रधानमंत्री जी की बातों का अनुकरण करना चाहिये, PM साहेब को अब उपवास का काम सौंप देना चाहिये, सुनिये मोदी जी ने जनता से क्या काम माँगा है?’

वहीं, एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा था कि, ‘मोदी जी दुनिया के पहले प्रधानमंत्री हैं जो अपने ही देश की दूसरी पार्टियों के ख़िलाफ़ अनशन पर बैठे हैं, मुझे याद है कि अरविंद केजरीवाल के धरने की मीडिया ने कितनी आलोचना की थी? क्या वही महान पत्रकार मोदी जी के उपवास के ख़िलाफ़ एक शब्द भी बोलेंगे?’

गौरतलब है कि, आप नेता संजय सिंह कि ओर से यह टिप्पणी पीएम मोदी और भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के एक दिवसीय उपवास के बाद आई है। बता दें कि, इन सभी ट्वीट के साथ संजय सिंह ने पीएम मोदी के भाषण का एक वीडियो भी शेयर किया जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

बता दें कि, पीएम मोदी के उपवास पर बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने शुक्रवार(13 अप्रैल) को ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘प्रधान सेवक, प्रधान रक्षक और प्रधान चौकीदार! क्या इस उपवास को वही समझाया जाए जैसा कि आप पहले कहते थे, ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा।’ बस दो चीजें आपसे पूछनी है? पहला कि अगर हमने उपवास रखा है तो इसे कैसे तोड़ेंगे? और दूसरा कि यह चाय पे चर्चा है या बिन मतलब के पकौड़े पे खर्चा?”

बता दें कि, यह कोई पहली बार नहीं है कि शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर निशाना साधा हो। वह कई मुद्दों पर पार्टी और पीएम मोदी की आलोचना करते रहें है।

गौरतलब है कि, भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने गुरुवार(12 अप्रैल) को पूरे देश में उपवास दिवस मनाया था। बता दें कि, पीएम मोदी समेत केंद्र सरकार के मंत्रियों और बीजेपी के सांसदों ने देश के अलग-अलग हिस्सों में एक दिन का उपवास रखा था।

बता दें कि, बीजेपी ने यह उपवास संसद की कार्रवाई न चलने देने को लेकर रखा था। बीजेपी का आरोप था कि विपक्ष की वजह से सदन में कार्यवाही ठप हो गई थी।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस ने 9 अप्रैल को दलितों के विरोध को समर्थन देने के लिए और “सांप्रदायिक सौहार्द की रक्षा और सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए” सांकेतिक उपवास दिवस मनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here