कांग्रेस पार्टी की मांग है कि केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाएः रणदीप सुरजेवाला

0

केरल में तेज बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, राज्यों के कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी भर जाने से स्थिति और गंभीर हो गई है। राज्य में बाढ़ से 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे राज्य से बाढ़ की खौफनाक तस्वीरें सामने आ रही हैं। एनडीआरएफ के अलावा, सेना की तीनों फोर्सेज राहत-बचाव कार्यों में लगी हुई हैं।

केरल

वहीं, दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल शनिवार(18 अगस्त) को केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई हवाई सर्वेक्षण किया। इस बीच उन्होंने केरल के लिए 500 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की है। इसके अलावा बाढ़ और बारिश में जिन लोगों की मौत हुई है उनके परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का भी ऐलान किया गया है।

इससे पहले केंद्र सरकार ने केरल के लिए 100 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की थी। केरल सरकार ने केंद सरकार से राज्य में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए 2 हजार करोड़ रुपये की मांग की थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से केरल में 20 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। केरल जाने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘केरल में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए वहां के लिए रवाना हो रहा हूं।’

इसी बीच, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी से केरल बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की। राहुल गांधी ने शनिवार(18 अगस्त) की सुबह ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रिय प्रधानमंत्री कृपया कर के केरल बाढ़ को बिना देरी किए हुए राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दें। राज्य में लाखों लोगों की जिंदगियां दांव पर हैं।’

राहुल गांधी ने कल राज्य के पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का आह्वान किया था कि वे प्रभावित लोगों की मदद के लिए आगे बढ़ें। केरल में बाढ़ की स्थिति को लेकर 16 अगस्त को राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की थी और राज्य के लिए विशेष वित्तीय सहायता का आग्रह किया था।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने ट्वीट पर लोगों से मदद की अपील करते हुए लिखा कि केरल में पिछले 100 सालों में सबसे भयंकर बाढ़ आई है। 80 बांधों के द्वारा खोल दिए गए हैं, 324 लोगों की जान चली गई है, 223139 लोग 1500 से ज्यादा राहत कैंपों में रह रहे हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बाढ़ से तबाह केरल के लिए 10 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की, उन्होंने बाढ़ की स्थिति को लेकर केरल के मुख्यमंत्री से भी बातचीत की। सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने केरल के मुख्यमंत्री से बातचीत की। दिल्ली सरकार 10 करोड़ रुपये का योगदान कर रही है। मैं सभी से केरल के अपने भाइयों और बहनों के लिए उदारतापूर्वक दान करने की अपील करता हूं।’

मुश्किल वक्त में केरल के लोगों की मदद के लिए भारतीय स्टेट बैंक(एसबीआई) सामने आया है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, एसबीआई ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 2 करोड़ रुपये दान देने का ऐलान किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य में 1.5 लाख से ज्यादा बेघर और विस्थापित लोग राहत शिविरों में हैं। सूत्रों ने बताया कि राज्य के 14 जिलों में से एक को छोड़ कर सभी हाई अलर्ट पर हैं।

देखिए लाइव अपडेट :

केरल में तकरीबन 2000-3000 करोड़ का नुकसान हुआ है। कांग्रेस पार्टी की मांग है कि केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाएः रणदीप सुरजेवाला

भारतीय सेना का स्पेशल एयरक्राफ्ट खाने और मूलभूत चीजों के साथ तिरुवनंनतपुरम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंचा।

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए 5 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की। इसके साथ ही वे बचाव कार्य के लिए 254 दमकल कर्मचारी और नाव भी भेजेंगे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए बिहार मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि, बाढ़ में फंसे लोगों का बचाव करना फिलहाल शीर्ष प्राथमिकता है। पीएम ने बताया कि केरल में एनडीआरएफ टीम, बीएसएफ की कंपनियां, सीआईएसएफ और आरएएफ की टुकड़ियां बचाव और राहत कार्य में लगी हैं।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में केरल के लोगों को सलाम किया है जो इस कठिन परिस्थिति से जूझ रहे हैं। उन्होंने देश के कोने-कोने से केरल को मिल रही सहायता के लिए भी लोगों का आभार जताया है।

वहीं एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने बताया कि केंद्र सरकार केरल को हर संभव मदद दे रही है। वित्तीय मदद से लेकर खाने-पीने की चीजों और दवाएं तक केरल पहुंचाई जा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here