VIDEO: क्या पटना रैली में मुसलमानों को लुभाने के लिए पीएम मोदी ने इमरान खान के भाषण का किया नकल?

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (3 मार्च) को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ‘संकल्प रैली’ के संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए पांच साल के अपने कार्यकाल के विकास कार्यो का ब्यौरा दिया और सेना के पराक्रम पर सवाल उठाने वालों पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का बार-बार जिक्र कर बिहार के मुस्लिम मतदाताओं को लुभाने की कोशिश की।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने सरकार की विदेश नीति की तारीफ करते हुए कहा कि सऊदी अरब ने हज का कोटा बढ़ा दिया है। अब इसे बढ़ाकर 2 लाख कर दिया गया है। वहीं, सऊदी अरब की जेल में बंद 850 भारतीय कैदियों को छोड़ने का फैसला किया गया।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दिनों सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस भारत दौरे के दौरे पर आए थे, उनसे मुलाकात के दौरान मैंने उनसे कहा कि हमारे देश का हज का कोटा बढ़ा दीजिए, उन्होंने फौरन हज कोटा को बढ़ाकर 2 लाख कर दिया। पीएम मोदी ने दावा किया कि इतने लोग किसी भी देश से हज करने के लिए नहीं जाते। दुनिया के किसी और देश के लिए इतनी मात्रा में कोटा नहीं बढ़ा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अभी हाल ही में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस भारत आए थे, उनके सम्मान में भोजन था। भोजन पर हम लोग बातें कर रहे थे। हमने उनसे कहा कि भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है, मध्यम वर्ग का दायरा बढ़ता जा रहा है। उन्होंने पूछा कि बताइए हम क्या कर सकते हैं? मैंने उनसे कहा कि भारत का मुसलमान हज पर जाना चाहता है, लेकिन आपका कोटा कम है। इसके बाद हज का कोटा बढ़ा दिया गया, दुनिया में किसी देश का कोटा नहीं बढ़ा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक और बात मैंने उनसे कहा कि मेरे यहां के कई युवा जो आपके यहां आते हैं उन्हें वहां के कानून नहीं पता होता तो वहां जेल चले जाते हैं। मैं चाहता हूं कि उनका केस जल्दी चले और जेल से छूटें। उन्होंने कहा कि मैं शाम तक आपको बताता हूं। शाम को राष्ट्रपति भवन में उन्होंने कहा कि मीठा खाइए, मैंने कहा कि किस बात का तो उन्होंने कहा कि सऊदी की जेल में बंद 850 भारतीयों को छोड़ रहे हैं।

पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद ही रैली में मौजूद लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट और जयकारों के प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया। हालांकि, पीएम मोदी ने क्राउन प्रिंस के साथ अपने संयुक्त बयान के दौरान इस घटना का उल्लेख नहीं किया था जब पिछले महीने दिल्ली का दौरा किया था। लेकिन पटना रैली में उन्होंने जो बताया वह ठीक वैसा ही था, जैसा कि इमरान खान ने सऊदी क्राउन प्रिंस के इस्लामाबाद दौरे के दौरान कहा था। बता दें कि क्राउन प्रिंस भारत पहुंचने से पहले पाकिस्तान की यात्रा की थी।

क्राउन प्रिंस को संबोधित करते हुए खान ने कहा था कि मैं सिर्फ यह उल्लेख करना चाहता था कि 2.5 मिलियन पाकिस्तानी लेबर हैं…मैं सिर्फ कहना चाहता हूं कि ये लोग मेरे दिल के बहुत करीब हैं। बहुत विशेष लोग हैं, जो अपने परिवारों को छोड़ देते हैं, जो अपने परिवारों के लिए आजीविका कमाने के लिए दूर जाने के लिए सारी मुसीबतें झेलते हैं। ये ज्यादातर लोग हैं, जो अपने परिवारों को एक साल, छह महीने तक नहीं देखते हैं…यह कुछ ऐसा है जो सर्वशक्तिमान को खुश करेगा। अगर हम उनका इलाज कर सकते हैं, तो वहां कुछ तीन हजार कैदी हैं।

खान ने आगे कहा था कि सऊदी अरब में 3,000 कैदी हैं। हम चाहते हैं कि आप यह ध्यान रखें कि वे गरीब लोग हैं, जिन्होंने अपने परिवारों को पीछे छोड़ दिया है। तो, बस एक निवेदन है कि ये हमारे लिए बहुत खास लोग हैं… आपसे विशेष अनुरोध है कि कुछ समय के लिए वे कष्टों का सामना करें। हम चाहेंगे कि आप उन्हें अपने लोगों के रूप में देखें।

इसके बाद क्राउन प्रिंस ने तत्काल घोषणा करते हुए कहा था कि वह तुरंत खान की याचिका पर कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा था कि श्रीमान प्रधानमंत्री आपको आश्वस्त करने के लिए मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि आप मुझे सऊदी अरब में पाकिस्तान का राजदूत मान लीजिए। हम पाकिस्तान को नहीं कह सकते। हम जो भी कर सकते हैं, हम करेंगे।

क्राउन प्रिंस के मुलाकात के दौरान जिस प्रकार से इमरान ने सऊदी में रह रहे मुसलमानों की रक्षा और सुविधाओं के लिए गुजारिश की थी, ठीक उसी प्रकार का संबोधन पीएम मोदी का भी था। राजग की इस रैली को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री और लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी संबोधित किया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here