मुसलमानों को रिझाने के लिए मोदी सरकार ने शुरू किया ‘प्रोग्रेस पंचायत’ नाम का आयोजन

0
केंद्र की मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि देश भर में मुस्लिमों की समस्याओं को सुलझाने के लिए अलग से पंचायतों का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार देश भर में मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगों की समस्याएं सुनने के लिए पंचायतों का आयोजन करेगी।

मोदी सरकार ने इस पंचायत का नाम ‘प्रोग्रेस पंचायत’ दिया है.

Also Read:  Vote: Modi's comments on triple talaq, hypocrisy or genuine?

पहली पंचायत गुरुवार को हरियाणा के मेवात में होगी. इसके बाद दूसरी पंचायत छह अक्टूबर को राजस्थान के अलवर में होगी. अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी इन पंचायतों में हिस्सा लेंगे. देशभर में इस तरह के पंचायतों का आयोजन किया जाएगा.

Also Read:  मध्यप्रदेश: 15 वर्षीय गैंगरेप पीड़िता ने इलाज के दौरान अस्पताल में तोड़ा दम

आपको बता दें कि तीन दिन पहले ही रविवार को मोदी ने मुसलमानों को वोट की मंडी बनाने वालों की फटकार लगाते हुए मुसलमानों को अपना बताया था. मोदी ने दीनदयाल उपाध्य के वक्तव्य को दोहराते हुए कहा था, “न मुसलमानों को पुरस्कृत करें, न तिरस्कृत करें. बल्कि उनका परिष्कार करें. मुसलमान कोई वोट की मंडी का माल नहीं और घृणा की वस्तु नहीं है. उसे अपना समझे.”

Also Read:  PM singularly responsible for economic mess: CPI(M)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here