मुसलमानों को रिझाने के लिए मोदी सरकार ने शुरू किया ‘प्रोग्रेस पंचायत’ नाम का आयोजन

0
केंद्र की मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि देश भर में मुस्लिमों की समस्याओं को सुलझाने के लिए अलग से पंचायतों का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार देश भर में मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगों की समस्याएं सुनने के लिए पंचायतों का आयोजन करेगी।

मोदी सरकार ने इस पंचायत का नाम ‘प्रोग्रेस पंचायत’ दिया है.

Also Read:  Fresh revelation on Dawood a face saving exercise after Modi government 'messed up' NSA-level talks: Congress

पहली पंचायत गुरुवार को हरियाणा के मेवात में होगी. इसके बाद दूसरी पंचायत छह अक्टूबर को राजस्थान के अलवर में होगी. अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी इन पंचायतों में हिस्सा लेंगे. देशभर में इस तरह के पंचायतों का आयोजन किया जाएगा.

Also Read:  Are decisions taken by Cabinet being implemented, Modi asks ministers

आपको बता दें कि तीन दिन पहले ही रविवार को मोदी ने मुसलमानों को वोट की मंडी बनाने वालों की फटकार लगाते हुए मुसलमानों को अपना बताया था. मोदी ने दीनदयाल उपाध्य के वक्तव्य को दोहराते हुए कहा था, “न मुसलमानों को पुरस्कृत करें, न तिरस्कृत करें. बल्कि उनका परिष्कार करें. मुसलमान कोई वोट की मंडी का माल नहीं और घृणा की वस्तु नहीं है. उसे अपना समझे.”

Also Read:  इंडिया टुडे के शो में नंदिनी सुंदर को बुलाए जाने पर राजदीप सरदेसाई के खिलाफ कानूनी नोटिस जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here