प्लैन में बैठी महिला को व्यक्ति ने चिल्लाते हुए कहा- हिजाब उतारो, यह अमेरिका है

0

प्लेन में एक मुस्लिम महिला के चेहरे से हिजाब हटाने वाले आरोपी को अमेरिका की एक कोर्ट ने एक साल की सज़ा और 66 हजार रूपये का जुर्माना भरने का फैसला सुनाया गया है। कोर्ट ने उसे एक साल कैद और 66 हजार रूपये का जुर्माना भरने का फैसला सुनाया है।

ये मामला अमेरिका का है, जब 37 वर्षीय दोषी ठहराए गए गिल पारकर पायने ने शिकागो से न्यू मैक्सिको के अल्बुकर्क जाते समय प्लेन में बैठी महिला का बुर्का यह चिल्लाते हुए हटाया कि यह अमेरिका है।

Also Read:  बिहार से दिल्ली लाए जा रहे हैं शहाबुद्दीन, सुप्रीम कोर्ट ने सिवान जेल से तिहाड़ शिफ्ट करने का दिया था आदेश

this-is-america-man-facing-jail-750x461

अल्बुकर्क जनरल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी वकील ने कोर्ट में कहा कि यह मामला किसी की निजता भंग करने, उसके धर्म के हिसाब से वेश-भूषा धारण करने की आजादी पर हमला है।

Also Read:  PNB महाघोटाला: 'चोरी' के बाद सीनाजोरी पर उतरा नीरव मोदी, बैंक का कर्ज चुकाने से किया इनकार

ये भी पढ़े-फ्रांस पुलिस की बेर्शम हरकत पर फ्रांसीसी गृह मंत्री ने ज़ाहिर की चिंता, बीच पर मुस्लिम महिला की जबरन उतरवाई गई थी बुरकीनी

दरअसल, यह मामला दिसंबर 2015 का है जब अमेरिका की साउथ-वेस्ट एयरलाइन्स में आरोपी शख्स पीड़ित महिला ख्वाला अब्दल हक की पंक्ति से पीछे बैठा हुआ था। तभी अचानक वह उठा और पीड़ित के पास पहुंचकर चिल्लाते हुए उसका हिजाब हटा दिया। हालांकि, पायने ने कबूल किया है कि उसने महिला से कहा था, “हिजाब हटा लो। यह अमेरिका है।”

Also Read:  JNU से लापता छात्र नजीब पर फर्जी रिपोर्ट छाप बेनकाब हुए टाइम्स ऑफ इंडिया के पत्रकार रवि शेखर झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here