गर्लफ्रेंड को फर्जी एयर टिकट भेजने के बाद इज्जत बचाने के लिए, फैलाई विमान हाइजैक की अफवाह

0

एम वम्सी कृष्ण के पास अपनी प्रेमिका के साथ छुट्टी पर जाने के लिए पैसे नहीं थे। ऐसे में उसने अपनी प्रेमिका को कथित तौर पर फर्जी टिकट भेजा और अपनी इज्जत बचाने के लिए उसने मुंबई पुलिस को ईमेल भेजकर विमान हाइजैक की आशंका जतायी, लेकिन उसकी यह योजना कामयाब नहीं हो सकी और अब वह पुलिस की गिरफ्त में है।

photo- NDTV

पीटीआई की ख़बर के मुताबुक, मियांपुर के रहने वाले 32 वर्षीय ट्रांसपोर्ट एजेंट कृष्ण ने आर्थिक दिक्कतों के चलते अपनी प्रेमिका को विमान का फर्जी टिकट भेजा, जो छुट्टी बिताने के लिए मुंबई और गोवा जाना चाहती थी। लड़के को लग रहा था कि हाइजैक की आशंका में अगर उड़ान रद्द हो जाएगी तो उसकी प्रेमिका को अपनी यात्रा भी रद्द करनी पड़ेगी और वह शर्मिंदगी से बच जाएगा।

Also Read:  हैदराबाद आत्मघाती हमले के सभी आरोपियों को कोर्ट ने किया बरी

पुलिस उपायुक्त (कार्यबल) बी लिम्बा रेड्डी के मुताबिक कृष्ण ने खुद को महिला बताते हुए ये ईमेल भेजा था। ई-मेल में उसने दावा किया था कि 23 लोगों का एक समूह मुंबई, हैदराबाद और चेन्नई हवाईअड्डों पर विमान हाइजैक करने वाला है। इसके बाद मुंबई पुलिस ने तीनों हवाईअड्डों पर सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क कर दिया था।

Also Read:  बाबा साहब आंबेडकर का जन्म दिन और दलित वोट बैंक : एक अनार और सौ बीमार
Congress advt 2

पुलिस उपायुक्त ने बताया, ”ईमेल के हैदराबाद से आने के कारण शहर के पुलिस आयुक्त ने ईमेल की सच्चाई का पता लगाने का निर्देश जारी किया। हमने आईपी एड्रेस का पता लगाया और पाया कि कृष्ण ने एसआर नगर के एक इंटरनेट कैफे से ये ईमेल भेजा था।”

आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसकी चेन्नई की रहने वाली प्रेमिका ने मुंबई और गोवा जाने की इच्छा जताई थी। वम्सी के पास पैसे नहीं थे और वह इस यात्रा का खर्च उठाने की हालत में नहीं था, लिहाजा उसने एक योजना बनाई।

Also Read:  PIA plane with 47 aboard crashes near Abbottabad

रेड्डी के अनुसार उसने अपनी प्रेमिका का चेन्नई से मुंबई का 16 अप्रैल का एक नकली टिकट बनवाया और उसे उसको ई मेल कर दिया। बाद में वह एक इंटरनेट कैफे में गया और एक ई मेल एड्रेस बनाने के बाद मुंबई के पुलिस आयुक्त और अन्य को धमकी भरे ई मेल भेजे ताकि बम की धमकी से उड़ान रद्द हो जाए और प्रेमिका का जाना टल जाए। उसके खिलाफ आईटी कानून और भारतीय दंड संहिता की संबद्ध धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here