देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन की स्पीड को लेकर डॉक्टर्ड वीडियो शेयर कर जमकर ट्रोल हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल, विपक्ष ने बताया ‘फेक इन इंडिया’

0

भारत की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ (ट्रेन-18) जल्द ही पटरी पर उतरने को तैयार है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी पहल ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनी इस ट्रेन को लेकर केंद्र सरकार हर तरह से वाहवाही लूटने की कोशिश कर रही है। हालांकि, केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल इस ट्रेन की खूबियां गिनाने के चक्कर में एक वीडियो शेयर कर सब किए कराए पर पानी फेर दिए। विपक्षी पार्टियां सहित सोशल मीडिया इस वीडियो को डॉक्टर्ड यानी एडिट किया हुआ बताकर केंद्रीय मंत्री की जमकर आलोचना कर रहे हैं।

AFP File PHOTO

दरअसल, रविवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्रेन-18 की तूफानी गति की झलक दिखाते हुए पूर्ववर्ती सरकारों के दौरान रेलगाड़ियों की स्पीड पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह कोई पक्षी या विमान नहीं है बल्कि हमारी ‘वंदेभारत एक्सप्रेस’ है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर एक 13 सेकेंड का वीडियो साझा किया।

इसमें प्लेटफार्म पर दूर से ‘वंदेभारत एक्सप्रेस’ आती दिखाई देती है और पलक झपकते ही स्टेशन पर वीडियो बनाने वाले कैमरे की नजर से ओझल हो जाती है। मंत्री ने वीडियो को शेयर करते हुए ट्वीट में लिखा, ‘यह एक पक्षी है… यह एक प्लेन है… ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत निर्मित भारत की पहली सेमी-हाई स्पीड ट्रेन देखें, ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को देखकर पुराने दिन याद करें।’

‘जनता का रिपोर्टर’ ने अपनी पड़ताल में पाया है कि पीयूष गोयल द्वारा ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ का शेयर किया हुए ये वीडियो सही है, लेकिन केंद्रीय मंत्री ने जिस वीडियो को शेयर किया है, उसकी रफ्तार एडिट कर तेज कर दी गई है। जब हमने इसकी पड़ताल की तो यूट्यूब पर इसका असली वीडियो भी मिला, जिसे ‘द रेल मेल’ नाम के चैनल ने अपलोड किया था। इसी वीडियो को लोग शेयर कर पीयूष गोयल को ट्रोल कर रहे हैं। इतना ही मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस सहित कई राजनीतिक पार्टियों ने नेताओं ने रेल मंत्री पर निशाना साधा है।

देखिए, यूजर्स के ट्वीट:-

विपक्ष ने साधा निशाना

वीडियो सामने आते ही कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर हो गईं। कांग्रेस इस बहाने बीजेपी पर निशाना साधने से नहीं चूकी, वहीं, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने तंज सकते हुए इसे ‘फेक इन इंडिया’ करार देते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

15 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से भारत की पहली इंजन रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। पिछले दिनों ही रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्रेन-18 का आधिकारिक नाम ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ घोषित किया था। बता दें कि ट्रायल के दौरान ट्रेन ने 181 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ी थी। ट्रेन 18 या वंदे भारत एक्सप्रेस का किराया प्रीमियम ट्रेनों के मुकाबले अधिक होगा। ट्रेन अपनी 755 किलोमीटर की यात्रा में दो स्टेशनों कानपुर और प्रयागराज में रूकेगी। इस मार्ग पर यह सबसे ज्यादा तेज गति से चलने वाली ट्रेन होगी। यह यात्रा 8 घंटे में तय होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here