भारत के इतिहास में पहली बार पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल, लगातार 18वें दिन बढ़ीं कीमतें, दिल्ली में बना ये रिकॉर्ड

0

कोरोना महामारी के बीच भी जनता पर महंगाई की मार लगातार बढ़ती जा रही है। पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी का सिलसिला एक बार फिर से शुरु हो गया है, जो रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आम लोगों की जेब पर पेट्रोल-डीजल की महंगाई का बोझ बढ़ता ही जा रहा है। तेल विपणन कंपनियों ने डीजल की कीमत में बुधवार (24 जून) को लगातार 18वें दिन बढ़ोतरी की जबकि 17 दिन बाद पेट्रोल के दाम स्थिर रहे जिससे राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डीजल, पेट्रोल से महँगा हो गया है।

पेट्रोल

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 79.76 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रही जो 28 अक्टूबर 2018 के बाद का उच्चतम स्तर है। वहीं, डीजल का मूल्य 48 पैसे बढ़कर 79.88 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच गया। करीब 12 सप्ताह्र तक तेल विपणन कंपनियों की ओर से पेट्रोल-डीजल की मूल कीमतों में बदलाव नहीं किया गया था जबकि उस दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में गिरावट जारी थी। दिल्ली और मुंबई में हालाँकि राज्य सरकारों द्वारा वैट बढ़ाने से दाम बढ़े थे।

तेल विपणन कंपनियों ने 07 जून से कीमतों की समीक्षा दुबारा शुरू की। पिछले 17 दिन में दिल्ली में पेट्रोल 8.50 रुपये यानी 11.93 प्रतिशत महँगा हुआ। लगातार 18 दिन में डीजल की कीमत 10.49 रुपये यानी 15.12 प्रतिशत बढ़ाई गई है। ख़बरों के मुताबिक, आने वाले दिनों में ईंधनों के दामों में ओर बढ़ोतरी हो सकती है।

कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में भी आज पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ। पेट्रोल की कीमत कोलकाता में 81.45 रुपये, मुंबई में 86.54 रुपये और चेन्नई में 83.04 रुपये प्रति लीटर रही। डीजल कोलकाता में 43 पैसे महँगा होकर 75.06 रुपये, मुंबई में 46 पैसे महँगा होकर 78.22 रुपये और चेन्नई में 39 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 77.17 रुपये प्रति लीटर बिका। (इंपुट: एजेंसी के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here