इमरान खान ने करतारपुर साहिब की रखी आधारशिला, बोले- ‘सिद्धू पाकिस्तान में भी जीत जाएंगे चुनाव’

0

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार (28 नवंबर) को भारत-पाक की दोस्ती की नई कड़ी को जोड़ने वाले नारोवाल जिले के करतारपुर में दरबार साहिब को जोड़ने वाले गलियारे की आधारशिला रखी। करतारपुर साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से जोड़ा जाएगा। इस दौरान पाकिस्तानी पीएम इमरान खान भारत और पाकिस्तान से आपसी विवाद को सुलझा कर बेहतर पड़ोसी बनने के लिए साथ आने की अपील की।

पाक पीएम ने कहा कि उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ, यहां के सभी दल और पाकिस्तानी सेना सभी एक साथ खड़े हैं। इस मौके पर भारत की तरफ से गए प्रतिनिधिमंडल में केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल, शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और पंजाब के नगर विकास मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा, विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी, आंतरिक राज्य मंत्री शहरयार अफरीदी, पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बजदार और विदेशी राजनयिक मौजूद थे।

बता दें कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को वाघा सीमा के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा था। भारत ने पिछले सप्ताह करतारपुर गलियारे को बनाए जाने की मंजूरी दी थी। इसके बन जाने से भारत में रहने वाले सिख गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन करने जा सकेंगे। इसके लिए कोई वीजा नहीं लगेगा। पाकिस्तान भारतीय सीमा से गुरुद्वारा दरबार साहिब तक का गलियारा बनाएगा, जबकि गुरदासपुर जिले के डेराबाबा नानक तक का गलियारे का निर्माण भारत करेगा।

‘सिद्धू पाकिस्तान में भी जीत जाएंगे चुनाव’

कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में इमरान ने भारत से आए दोस्तों का स्वागत करते हुए कहा कि वे करतारपुर के दरबार में अगले साल तक बेहतर सुविधा देंगे। इस दौरान इमरान खान ने पंजाब के नगर विकास मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की तारीफ करते हुए कहा कि पिछली बार जब सिद्धू वापस गए तो उनकी काफी आलोचना हुई, मुझे समझ में नहीं आया कि किस बात पर विवाद हुआ। वह तो दोस्ती की बात कर रहे थे। वह सिर्फ शांति और भाईचारे की बात कर रहे थे।

इमरान ने आगे कहा कि सिद्धू जो मैंने दो दिनों में यहां माहौल देखा है, आप इस पार आकर चुनाव लड़ें तो यहां भी जीत जाएंगे। खासतौर से पंजाम में…। उन्होंने यह भी कहा कि हमें यह इंतजार नहीं करना चाहिए कि जब सिद्धू भारत के प्रधानमंत्री बनें तब दोस्ती होगी। खान ने कहा कि लीडरशिप इरादा कर लें तो कुछ भी मुश्किल नहीं है। बता दें कि करतारपुर नारोवाल जिले में रावी नदी के पास है। यह गुरुद्वारा लाहौर से 120 किलोमीटर दूर और भारत की सीमा से करीब 3 से 4 किलोमीटर पर स्थित है।

‘पाक सरकार और फौज दोनों भारत से चाहते हैं बेहतर रिश्ते’

पाक पीएम ने जर्मनी और फ्रांस का उदाहरण देते हुए कहा कि उन दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ कई युद्ध लड़े और कैसे दो यूरोपियन देश यूरोपियन यूनियन के तहत एक साथ आकर उसका हिस्सा बने। पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि जब तक भारत और पाकिस्तान एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहेंगे दोनों देश आगे नहीं बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि हमें अपने अतीत से सीखना चाहिए और उसे छोड़ देने चाहिए। अतीत हमें यह सिखाता है कि हम अवश्य आगे बढ़ें। लेकिन, यहां पर हम आगे बढ़ते हैं और फिर पीछे आ जाते हैं।

इमरान ने कहा कि हमें अपने रिश्तों को मजबूत करने की प्रतिबद्धता और मजबूत इच्छा शक्ति होनी चाहिए ताकि हम अच्छे पड़ोसी के साथ रह सके। आज, मैं यह कहता हूं कि मेरी पार्टी, मैं और हमारी सेना सभी एक साथ खड़े हैं। हम आगे बढ़ना चाहते हैं। हम अच्छे रिश्ते चाहते हैं। लेकिन, हमारे बीच एक समस्या है और वह है कश्मीर। मैं आपसे पूछता हूं, हम चांद तक पहुंच हैं, क्यों हम इस मुद्दा का समाधान नहीं कर सकते। जरूरत इस बात की है कि सीमा पार दोनों नेतृत्व इस मुद्दे को सुलझाए। लेकिन, इसके लिए मजबूत इरादों की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here