पाकिस्तान में वीडियो बनाकर पोस्ट करना पड़ गया भारी

0

जमीयत उलेमा ए इस्लाम जेयूआईएफ प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान का एक वीडियो अपलोड करने को लेकर पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के एक चिकित्सक को निलंबित कर दिया गया है। रहमान की इस संस्थान में चिकित्सीय जांच चल रही है।
fazal-Copy-4

Also Read:  अखिलेश के मुख्यमंत्री रहते हुए अपर्णा यादव के NGO को मिला 86% अनुदान, RTI से हुआ खुलासा

डॉन अखबार की खबर के मुताबिक वीडियो क्लिप के फैलने के बाद पीआईएमएस के वीआईपी रूम में जिस मेडिकल अधिकारी ने वीडियो रिकार्ड किया, उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

समाचार एजेंसी भाषा की खबर के अनुसार जेयूआई..एफ नेता को 28 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने पेट में कुछ परेशानी होने की शिकायत की थी। इस वीडियो में उन्हें अस्पताल के बिस्तर पर पड़े हुए और एक महिला चिकित्सक से चिकित्सीय देखभाल प्राप्त करते दिखाया गया है।

Also Read:  राहुल गांधी का मोदी सरकार पर जोरदार हमला कहा-दमनकारी ताकतें लोकप्रियता से नहीं जोड़तोड़ से जीत रही है

गौरतलब है कि यह धार्मिक नेता महिला सशक्तिकरण के खिलाफ मुखर रहे हैं। अब उनके विरोधियों ने किसी महिला चिकित्सक से इलाज कराने को लेकर उनकी आलोचना की है ।

Also Read:  सिंगापुर में पहली गर्भवती महिला को हुआ ज़ीका वायरस, संक्रमण के मामलों की संख्या 115 तक पहुंची

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here