पाकिस्तानी स्कूल समूह ने पंजाबी भाषा पर लगाई पाबंदी, बच्चों के लिए बताई ‘खराब भाषा’

0
>

पाकिस्तान में पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी के मालिकाना हक वाले निजी स्कूलों के एक समूह ने पंजाबी को ‘खराब भाषा’ बताते हुए परिसर के अंदर और बाहर इस पर प्रतिबंध लगा दिया. बड़ी संख्या में लोगों ने इसका विरोध किया है।

Also Read:  भारत ऐसे हमलों से नहीं झुकेगा, हम आतंकवादियों को मदद पहुंचाने वालों के मंसूबों को विफल करेंगे: प्रणब मुखर्जी
Photo courtesy: deccan chronicle
Photo courtesy: deccan chronicle

‘द बीकनहाउस स्कूल सिस्टम’ (बीएसएस) ने हाल में अभिवावकों के लिए एक अधिसूचना जारी करके पंजाबी को बच्चों तथा माता-पिता के लिए ‘खराब भाषा’ घोषित किया. अधिसूचना के पांचवें बिन्दु में कहा गया कि खराब भाषा को सुबह, स्कूल घंटों के समय और घर के समय स्कूल परिसर के अंदर और बाहर अनुमति नहीं है।

Also Read:  एम्स के गार्डों से मारपीट मामला: 'AAP' विधायक सोमनाथ भारती गिरफ्तार

नोटिस में ‘खराब भाषा’ को स्पष्ट करते हुए ‘ताने, अपशब्द, पंजाबी और घृणा फैलाने वाले भाषण को खराब भाषा’ बताया।

कई माता-पिता, प्रमुख पंजाबी भाषी कार्यकर्ता और साहित्य संगठनों ने स्कूल प्रशासन से इस अधिसूचना को तुरंत वापस लेने और पंजाबी मातृभाषा वालों से माफी मांगने की मांग की।

Also Read:  पत्रकार का प्राइम टाइम शो अचानक बंद किए जाने पर रवीश कुमार बोले- चुप्पी को 'राष्ट्रीय मुद्रा' घोषित कर देना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here