आशंका: अनजाने ही पाकिस्तान के बिछाए जाल में जा फंसे थे भारतीय जवान

0

भारतीय सेना ने सोमवार(1 मई) को पाकिस्तान की बर्बरता का करारा जवाब दिया है। अपने दो जवानों के सिर काटे जाने का पाकिस्तान से बदला लेते हुए देर रात भारत ने पाकिस्तानी सेना के पोस्ट को निशाना बनाकर जबरदस्त फायरिंग की है। भारत ने इस फायरिंग में पाक के तीन पोस्टों को तबाह कर दिया है। वहीं, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस कार्रवाई सात पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं, हालांकि अब तक इस पर सेना की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।बता दें कि पाक सेना ने सोमवार को बर्बरता की हद कर दी। भारी गोलाबारी के बीच पाक के विशेष बलों की टीम नियंत्रण रेखा पार कर पुंछ सेक्टर में घुस आई और दो जवानों के सिर धड़ से अलग कर दिए। सेना की उत्तरी कमान की प्रेस रिलीज के मुताबिक, पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम जिसे बैट कहा जाता है उसने इस कायरता पूर्ण वारदात को अंजाम दिया। पाकिस्तानी सेना ने शहीद हुए दो भारतीय जवानों के शवों को क्षत विक्षत कर दिया।

शहीद होने वाले दोनों सैनिकों नायब सूबेदार परमजीत सिंह सेना की 22 सिख रेजीमेंट और हेड कांस्टेबल प्रेम सागर बीएसएफ की 200वीं बटालियन से थे। परमजीत पंजाब के तरनतारन और प्रेम सागर उत्तर प्रदेश के देवरिया के रहने वाले थे। इसके अलावा नियंत्रण रेखा पर सोमवार की सुबह पाक की नापाक हरकत के बाद दोपहर को आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में बैंक की कैश वैन लूट ली। इस हमले में पांच पुलिसकर्मी शहीद हो गए और बैंक के दो अधिकारी भी मारे गए।

Also Read:  कन्हैया कुमार और शेहला रशीद को टाइम्स नाउ कीे ISIS से जुड़ी रिपोर्ट में दिखाने पर सोशल मीडिया पर भड़का गुस्सा

भारतीय सेना के जिस गश्तीदल में शामिल 2 जवानों को पाकिस्तानी सेना ने मारा और उनकी लाश को क्षत-विक्षत किया, उनके बारे में एक नई जानकारी सामने आई है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, संभावना जताई जा रही है कि ये सैनिक अनजाने में दुश्मन के बिछाए जाल में खुद चलकर गए और फंस गए।

यह वारदात जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा के पास स्थित कृष्णा घाटी में हुई। सेना और सीमा सुरक्षा बल (BSF) का एक संयुक्त गश्तीदल यहां पट्रोलिंग के लिए पहुंचा था। खुफिया एजेंसियों की एक रिपोर्ट में बताया गया था कि शायद पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सीमा में घुसकर वहां कुछ बारूदी सुरंगें बिछाई हैं। इसी की तफ्तीश के लिए जवान यहां पहुंचे थे।

Also Read:  कांग्रेस नेताओं को अपने बनाए 'चक्रव्यूह' से खुद निकलना होगा: जेटली

लेकिन बारूदी सुरंगों की तलाश करते हुए यह पट्रोलिंग दल उस समय हैरान रह गया, जब उसने देखा कि पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम (BAT) भारतीय सीमा में करीब 250 मीटर तक अंदर घुसकर घात लगाए बैठी थी। जहां पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सेना की 2 फॉरवर्ड चौकियों पर रॉकेट और मोर्टार बम से हमला किया, वहीं उनकी BAT के जवान भारतीय सैनिकों के इंतजार में घात लगाकर बैठे रहे। भारतीय सेना का गश्तीदल पाकिस्तानी गोलीबारी की चपेट में आ गया और इसी कारण 2 जवान शहीद हो गए।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, जवानों के शहीद होने के बाद पाकिस्तानी BAT के सैनिक वहां पहुंचे और उन्होंने दोनों शहीदों के शरीर को क्षत-विक्षत कर दिया। पाक सेना ने इस इलाके में बारूदी सुरंग बिछाया या नहीं, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

पहले भी बर्बरता कर कर चुकी पाकिस्तानी सेना

इससे पहले भी कई मौकों पर पाकिस्तानी BAT हमला कर चुकी है और इसने कई मौकों पर भारतीय जवानों के सिर काटे हैं व उनका मृत शरीर क्षत-विक्षत किया है। 28 अक्टूबर 2016 को आतंकियों ने भारतीय सेना के एक पोस्ट पर हमला किया और एक भारतीय जवान की हत्या कर दी। LoC के पास स्थित माछिल सेक्टर में हुई इस वारदात में भी भारतीय जवान के शव के साथ बर्बरता की गई थी।

Also Read:  ट्रम्प ने अपने उद्घाटन भाषण में हॉलीवुड फिल्मों की लाइनों का किया इस्तेमाल

वहीं, जनवरी 2013 में पाकिस्तानी BAT ने लांस नाइक हेमराज को मारकर उनके शव का अपमान किया था। साथ ही, उन्होंने लांस नाइक सुधाकर सिंह का सिर भी काट दिया था। जून 2008 में 2/8 गोरखा रायफल्स का एक सैनिक जब रास्ता भटक गया, तब केल सेक्टर में BAT ने उसे बंदी बना लिया। कुछ दिनों बाद जवान का शव मिला, उसका सिर धड़ से अलग कर दिया गया था।

इसके अलावा 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान कैप्टन सौरभ कालिया को भी पाकिस्तानी फौज ने बंदी बना लिया और फिर उनका क्षत-विक्षत शरीर भारत के हवाले कर दिया। फरवरी 2000 में आतंकवादी इलियास कश्मीरी ने नौशेरा सेक्टर में भारतीय सेना के एक पोस्ट पर हमला किया और 7 भारतीय जवानों की हत्या की। कश्मीरी 24 साल के एक भारतीय सैनिक बाबूसाहब मारूति तालेकर का सिर काटकर अपने साथ पाक लेकर चला गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here