संजय लीला भंसाली समझ गए मोदी सरकार के रहते हिन्दु-मुस्लिम मुद्दे को कैसे भुनाया जाए, ‘पद्मावती’ का ट्रेलर रिलीज

0

मोदी सरकार में फिल्म मेकर्स उन मुद्दों को तरजीह नहीं दे रहे है जिन्हें सरकार संस्कार, राष्ट्रवाद और गाय प्रेम के नाम पर दिखाने की कोशिश कर रही है। मोदी सरकार के घोर प्रशंसक अनुपम खेर, मधुर भंडारकर भी इस मामले में कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके। हालांकि अक्षय कुमार ने जरूर पीएम मोदी से प्रेरित होकर एक फिल्म बना डाली।

संजय लीला भंसाली

अब इस मामले में अलग तरह का सिनेमा बनाने वाली भ्रमित छवि को दिखाने वाले संजय लीला भंसाली भुनाने के लिए मैदान मे आ चुके है अपने नये शाहकार को लेकर। ‘पद्मावती’ का ट्रेलर भले ही यह बताता हो कि फिल्म ऐतिहासिक दस्तावेजों पर आधारित है लेकिन हिन्दु-मुसलमान के नामों को फिल्म में प्रमुखता से उछाला जा रहा है।

मोदी सरकार की तरफ से पिछले दिनों बहुत सारे फिल्म मेकर्स और अदाकारो को उनके अभियान से जुड़ने के लिए पत्र भेजे गए थे। लेकिन इस बात का कुछ असर नहीं पड़ा कि लोग प्रधानमंत्री मोदी से जुड़ जाए और उनके अभियानों को चलाएं। जिस समय इस देश के सर्वोच्च फिल्म संस्थान को एक निदेशक की जरूरत थी जो सरकार के पास केवल एक नाम गजेन्द्र चौहान ही था। पूना फिल्म संस्थान में उन्हें सर्वोच्च पद पर बैठा दिया गया जबकि इसके खिलाफ बड़े आन्दोलन चले लेकिन सरकार नहीं मानी।

Also Read:  पाकिस्तान से शर्मनाक हार के बाद धोनी के घर की सुरक्षा बढ़ाई गई, मायूसी के साथ गुस्से से भरे लोग नाराज है टीम इंडिया से
Congress advt 2

मोदी सरकार ने हमेशा चाहा कि फिल्म उद्योग से बड़े नाम उनकी सरकार के साथ जुड़े लेकिन परिणाम उनके विपरित आए। पिछले दिनों जब असुरक्षा के माहौल पर आमिर खान की बीवी ने टिप्पणी की थी तो सरकार ने इसे अपनी निजी हार माना था और बीजेपी की आईटी सेल ने एक बड़ा फर्जी अभियान आमिर खान के खिलाफ चलाया था।

Also Read:  रिजर्व बैंक ने बैंकों में इस्लामी बैंक सुविधा का प्रस्ताव दिया, देश में जल्द होगी शरिया बैंकिंग की शुरुआत

सरकार हमेशा से चाहती रही है कि उसकी विचारधारा को प्रमोट करने वाले फिल्ममेकर्स उनके साथ जुड़े शायद इसी लिए मधूर भंडारकर ने कांगे्रस पर हमला बोलती एक फिल्म पिछले दिनों बनाई। इसके अलावा पहलाज निहालानी की कारगुजारियां सब देख ही चुके है। बहुत अधिक अंधभक्ति का नमूना पेश करने की खातिर उनको अपने ही पद से हाथ धोना पड़ा जिसको ठिकरा उन्होंने केन्द्रिय मंत्री स्मृति ईरानी के सिर फोड़ दिया था।

इसके अलावा मोदी सरकार बनने के बाद एक अजीब सी रेस फिल्म स्टारों के बीच सोशल मीडिया पर फैलायी जाने लगी। सलमान, आमिर, और शाहरूख के खिलाफ लोगों ने रणवीर सिंह को उतारना शुरू कर दिया। यहां तक की इन लोगों की फिल्मों का बाइकाट करने के लिए कैम्पेन तक चलाए गए।

Also Read:  पाकिस्तान का कुबूलनामा, जिहाद के नाम पर आतंक फैलाता है हाफिज सईद

फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों पर यह सब मोदी सरकार का असर था और अगर ऐसे में जब बीजेपी सरकार पर देश में नफरत की राजनीति करने का कथित आरोप लगता रहा हो तो एक पैसे कमाने वाला फिल्ममेकर अच्छे से समझ सकता है कि क्या चीज दिखाकर इस मुद्दे को भुनाया जा सकता है। संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित  ‘पद्मावती’ फिल्म का आज ट्रेलर रिलीज हो गया है। फिल्म का निर्माण भंसाली प्रोडक्शन्स और वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स ने किया है।

इस फिल्म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मावती, रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी और शाहिद कपूर राजा रावल रतन सिंह का किरदार निभा रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here