PAC अध्यक्ष बोले- ‘समिति के पास प्रधानमंत्री को भी तलब करने की शक्ति है’

0

संसद की लोक लेखा समिति (पीएसी) के अध्यक्ष केवी थॉमस ने एक पुराने नियम का हवाला देते हुए अपनी पहले की इस दलील का बचाव किया है कि समिति के पास प्रधानमंत्री सहित किसी कैबिनेट मंत्री को तलब करने की शक्ति है।उन्होंने कहा कि जो नियम प्रधानमंत्री सहित किसी कैबिनेट मंत्री को तलब करने के लिए पीएसी को शक्तियां देता है, उसे स्पीकर के किसी प्रतिकूल निर्देश पर सर्वोच्चता प्राप्त है।

फाइल फोटो।

संसद की सबसे पुरानी समितियों में शामिल इस समिति को मजबूत करने की हिमायत करते हुए थॉमस ने कहा कि बरसों पहले बनाया गया एक नियम कहता है कि पीएसी कैबिनेट मंत्री को तलब कर सकती है, बशर्ते इस मुद्दे को लेकर एक राय हो और स्पीकर इसकी इजाजत देते हों।

उन्होंने कहा कि लेकिन साथ ही, बरसों पहले बना स्पीकर का एक निर्देश भी है कि समिति कैबिनेट मंत्री को तलब नहीं कर सकती। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि यह नियम स्पीकर के निर्देश के ऊपर है। थॉमस ने कहा कि चूंकि प्रधानमंत्री समकक्षों में प्रथम हैं, इसलिए समिति उन्हें भी तलब कर सकती है।

दरअसल, उनसे यह स्पष्ट करने को कहा गया था कि क्या पीएसी प्रधानमंत्री को तलब कर सकती है। तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने टूजी घोटाला मुद्दे पर पीएसी के समक्ष पेश होने की पेशकश की थी। भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी उस वक्त इसकी (समिति की) अध्यक्षता कर रहे थे।

हालांकि, थॉमस ने जल्दी ही यह भी जोड़ा कि इसका यह मतलब नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को समिति तलब करेगी। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर मैं यह कह रहा हूं कि पीएसी को मजबूत किए जाने की जरूरत है। यह सभी संसदीय समितियों की जननी है।

गौरतलब है कि भाजपा सांसद और पीएसी सदस्य निशिकांत दूबे ने हाल ही में थॉमस के खिलाफ एक विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाना चाहा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि थॉमस ने प्रधानमंत्री को तलब करने का दावा कर उनकी गरिमा कम करने के लिए समिति का इस्तेमाल किया।

दरअसल, कोच्चि में हाल ही में हुए एक संवाददाता सम्मेलन में थॉमस ने कहा था कि नोटबंदी के फैसले की जांच कर रही पीएसी के पास इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री तक को बुलाने की शक्ति है। पीएसी ने बाद में एक बयान में स्पष्ट किया था कि प्रधानमंत्री को नहीं बुलाया जाएगा। पीएसी अध्यक्ष के तौर पर थॉमस का लगातार तीसरा कार्यकाल 31 अप्रैल को खत्म हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here