उत्तर पूर्वी दिल्ली में CAA को लेकर झड़प के दौरान हेड कांस्टेबल की मौत, डीसीपी घायल

0

उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) को लेकर झड़प के दौरान सोमवार को दिल्ली पुलिस का एक हेड कांस्टेबल मारा गया। झड़पों के दौरान शाहदरा के पुलिस उपायुक्त अमित शर्मा घायल हो गए।

दिल्ली

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हेड कांस्टेबल रतन लाल सहायक पुलिस आयुक्त के कार्यालय से जुड़े हुए थे। वहीं, पुलिस उपायुक्त अमित शर्मा भी घायल हो गए। अधिकारी के मुताबिक शर्मा के सिर और हाथ में चोट आई है। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिलहाल वह ठीक हैं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि झड़प में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध और समर्थन करने वाले समूहों के बीच झड़पों के एक दिन बाद सोमवार को कई गाड़ियों, दुकानों और मकानों में आग लगा दी गई।

इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध और समर्थन के दौरान उत्तरपूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा के मद्देनजर कानून-व्यवस्था बहाल करने का अनुरोध किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “मैंने अभी LG साहिब से बात की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि और पुलिस फ़ोर्स भेजी जा रही है। किसी के भी द्वारा हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मेरी सभी लोगों से विनती है कि कृपया शांति बनाए रखें। हिंसा से कोई समाधान नहीं निकलेगा।”

हेड कांस्टेबल को मौत पर दुख जताते हुए सीएम कोजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा, “पुलिस हेड कोंस्टेबल की मौत बेहद दुःखदायी है। वो भी हम सब में से एक थे। कृपया हिंसा त्याग दीजिए। इस से किसी का फ़ायदा नहीं। शांति से ही सभी समस्याओं का हल निकलेगा”

गौरतलब है कि, उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाके में प्रदर्शनकारियों द्वारा कम से कम दो मकानों और दमकल की एक गाड़ी में आग लगा दिए जाने के बाद तनाव फैल गया है। लगातार दूसरे दिन सीएए का समर्थन और विरोध करने वाले समूहों के बीच झड़प हो गई और दोनों समूहों ने एक-दूसरे पर पथराव किए। जाफराबाद के चांदबाग इलाके में भी हिंसा की घटना हुई है। (इंपुट: भाषा के साथ)

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here