सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर गलत जानकारी प्रसारित करने पर अधिकारी निलंबित

0

चीन में महामारी का रूप धारण कर चुके खतरनाक कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में लगभग 8,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं। देश और दुनिया में इस वक्त इस कोरोना वायरस को लेकर चिंता का माहौल है। इस बीच, छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर गलत जानकारी प्रसारित करने के आरोप में जिला प्रशासन ने जनपद पंचायत के एक अधिकारी को निलंबित कर दिया।

कोरोना वायरस
फाइल फोटो

कांकेर जिले के कलेक्टर केएल चौहान ने मंगलवार को समाचार एजेंसी ‘भाषा’ को बताया कि जिले के चारामा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जीएस बढ़ई को निलंबित कर दिया गया है। चौहान ने बताया कि बढ़ई ने इस महीने की 13 तारीख को अपने व्यक्तिगत मोबाइल नंबर से ‘जनपद पंचायत चारामा’ व्हाट्सएप ग्रुप में कोरोना वायरस को लेकर अपुष्ट और भ्रामक जानकारी का संप्रेषण किया था जो सोशल मीडिया के दुरुपयोग और लोक सेवा आचरण के नियम का स्पष्ट उल्लंघन है।

कलेक्टर ने बताया कि राज्य में परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य विभाग की अधिसूचना के अनुसार कोई भी व्यक्ति या संस्था स्वास्थ्य विभाग की बिना पूर्व अनुमति के कोरोना वायरस के बारे में जानकारी प्रेषित करने के लिए किसी भी प्रिंट या इलेक्ट्रानिक मीडिया का उपयोग नहीं करेगा। ऐसी गतिविधि में लिप्त पाए जाने पर इस अधिसूचना के अंतर्गत यह कृत्य दंडनीय अपराध की श्रेणी में माना जाएगा।

बता दें कि, छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगातार प्रयास किए जे रहे हैं। राज्य में अभी तक किसी भी व्यक्ति में इस वायरस की पुष्टि नहीं हुई है। गौरतलब है कि, दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में चीन में महामारी का रूप धारण कर चुके खतरनाक कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी है। भारत में कोरोना की दस्तक के साथ ही लोगों में घबराहट और बेचैनी बढ़ गई है। पिछले कुछ दिनों में लगातार देशभर से कोराना वायरस की चपेट में आए लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here