योगी सरकार में पुलिस उत्पीड़न के कारण मकान बेचने के लिए बाध्य हुआ गरीब परिवार

0
यूपी में सत्ता भले ही बदल गई है, लेकिन लगता है यहां का पुलिस प्रसाशन अभी तक नही बदला है। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए जुटे हुए हैं। लेकिन यूपी पुलिस पर लगातार कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर से उंगली उठती नजर आ रही है। मुरादाबाद में पुलिस के दबाव के चलते एक परिवार ने अपना घर बेचने का निर्णय लिया है।
पुलिस उत्पीड़न
photo- ANI
यह मामला मुरादाबाद के कांठ थाना क्षेत्र का है। जहां पर एक परिवार ने संपत्ति विवाद में पुलिस द्वारा उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। साथ ही सीएम योगी से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग भी की है। बताया जा रहा है कि कांठ निवासी राम सिंह भुईयार ने पुलिस उत्पीड़न से तंग आकर तंग आकर घर बेचने का फैसला कर लिया है।

राम सिंह ने अपने घर के दरवाजे पर लिखा है कि, ”माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार में पुलिस उत्पीड़न के कारण यह मकान बिकाऊ है।” साथ ही  पीड़ित ने अपना पता नीचे लिख खरीदार से यहां संपर्क करने की गुहार भी लगाई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रामसिंह के परिवार में आपस में संपत्त‍ि को लेकर विवाद चल रहा था, जिसके तहत राम सिंह के बेटे और महिलाओं सहित पांच को नामजद किया गया था। वहीं दूसरे पक्ष से दो लोग नामजद थे, उन्होंने अपनी जमानत करा ली है। लेकिन राम सिंह के परिवार ने 3 लोगों को जमानत नहीं कराई है। इसी लिए पुलिस इनके यहां दबिश दे रही है।

थाना इंचार्ज ने बताया कि इस बात को लेकर पुलिस परिवार को बार-बार यही कह रही थी कि आप बाकि लोगों की जमानत करा लो। लेकिन यह झूठा आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस इनका उत्पीड़न कर रही है और घर के दरवाजे पर मकान बिकाऊ लिखकर नौटंकी कर रहे हैं।

Also Read:  Patiala House Court goons and Delhi Police had PM Modi's tacit approval

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here