कहाँ सो रही है ओडिशा सरकार,एंबुलैंस नही मिलने पर शव की हड्डिया तोड़ कंधे पर ढोया, दो दिन में दूसरी घटना

0

ओड़‍िशा में दो दिन के अंदर ऐसी र्शमनाक तस्वीरे आई हैं जिसने राज्य की नवीन पटनायक सरकार पर सवाल खड़ा कर दिया है।

दो दिन पहले एक तस्वीर कालाहांडी गांव से आई थी जिसमे एक आदिवासी समुदाय का व्यक्ति कंधे पर बीवी की लाश को ले जाता नजर आ रहा था।

और अब बहुत बेदर्द तस्वीरे सामने आई हैं जिस्से देखकर कोई भी सन्न रह जाएगा ।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार 80 वर्षीया विधवा सलमानी बेहरा की बालासोर जिले में बुधवार सुबह सोरो रेलवे स्टेशन के नजदीक एक मालगाड़ी के नीचे आ जाने से मौत हो गई थी। देरी होने की वजह से लाश अकड़ गई थी जिसकी वजह से कामगारों को लाश बांधने में परेशानी हो रही थी।

Also Read:  45 infants die in 10 days, 5900 in five years: Shishu Bhawan is infants' death trap in Odisha

इसलिए उन्‍होंने कूल्‍हे के पास से लाश को तोड़ दिया, उसके बाद उसे पुरानी चादर में लपेटा, एक बांस से बांधा और दो किलोमीटर दूर स्थित रेलवे स्‍टेशन ले गए। उसके बाद लाश को ट्रेन से ले जाया गया।

photo courtesy:jansatta
photo Jansatta

राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) को घटना की जानकारी दे दी गई थी। लेकिन कर्मचारी 12 घंटे बाद वहां पहुंचे। लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए बालासोर ले जाना था लेकिन वहां कोई एंबुलेंस मौजूद नहीं थी।

Also Read:  Another self-style godman arrested in Odisha

इस बारे में सोरो जीआरपी के असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर प्रताप रुद्र मिश्रा ने बताया कि उन्होंने लाश को ले जाने के लिए एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर से बात कि जिससे लाश को ट्रेन द्वारा बालासोर भेजा जा सके। मिश्रा ने बताया, “ऑटो ड्राइवर 3,500 रुपए मांग रहा था लेकिन हम इस तरह के काम के लिए 1000 रुपये से अधिक खर्च नहीं कर सकते। मेरे पास लाश को ले जाने के लिए सीएचसी के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं था

Also Read:  झारखंड और बिहार में पत्रकारों की हत्या

मृतका बेहरा के 60 वर्षीय बेटे रबिंद्र बरीक का कहना है कि जब उन्हें अपनी मां की लाश के साथ किए गए व्यवहार के बारे में पता चला तो वह सन्न रह गए। उन्होंने कहा, ‘उन्हें थोड़ी और मानवता दिखानी चाहिए थी। मैंने शुरू में पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा करने की सोची, लेकिन हमारी शिकायत पर कार्रवाई कौन करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here