दिल्ली में एक बार फिर से लागू हो सकती है ऑड-ईवेन

0

देश की राजधानी दिल्ली में लगातार बढ़ते प्रदूषण का स्तर देखते हुए दिल्ली सरकार एक बार फिर से ऑड-ईवेन योजना को लागू कर सकती है।

ऑड-ईवेन

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा है कि दिल्ली सरकार प्रदूषण का स्तर बढ़ने के मद्देनजर सड़कों पर कारों की संख्या को प्रतिबंधित करने के लिए सम-विषम योजना को फिर से लागू कर सकती है।

मंत्री ने कल दिल्ली परिवहन निगम और अपने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा कि जब कभी सम-विषम की घोषणा की जाती है, वे इसे लागू करने के लिए पूरी तरह तैयार रहें। उन्होंने कहा, दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ सरकार को सम-विषम योजना समेत आपात कदम उठाने होंगे।

वाहनों की पंजीकरण संख्या के आखिरी अंक पर आधारित यह योजना वर्ष 2016 में दो बार- एक जनवरी से 15 जनवरी और फिर 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक लागू की गई थी। इस योजना के तहत एक दिन ऑड नंबर की गाड़ियां और एक दिन ईवेन नंबर की गाड़ियां सड़क पर उतरती है।

ख़बरों के मुताबिक, कैलाश गहलोत ने कहा कि सम-विषम योजना लागू होने पर तैयारी का मुख्य घटक डीटीसी द्वारा अतिरिक्त बसों की खरीदारी होगा। योजना को लागू करने में सबसे बड़ी चुनौती अच्छी तरह विकसित दिल्ली मेट्रो नेटवर्क के अलावा सार्वजनिक परिवहन की खराब सुविधाएं है।

डीटीसी के पास 4000 बसें है जबकि दिल्ली इंटीग्रेटिड मल्टीमोडल ट्रांजिट सिस्टम 1,600 बसें चलाता है। विशेषग्यों का अनुमान है कि शहर के सभी इलाकों में चलाने के लिए करीब 11,000 बसों की आवश्यकता है।

बता दें कि, ईपीसीए वायु प्रदूषण स्तर के बहुत खराब और गंभीर श्रेणियों पर पहुंचने के बाद बदरपुर ताप विद्युत संयंत्र एवं ईंट भट्टों को बंद करने और जनरेटरों पर प्रतिबंध लगाने जैसे कड़े कदम पहले ही उठा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here