अभिनेत्री व TMC सांसद नुसरत जहां ने टिक टॉक बैन पर उठाए सवाल, कहा- बिना सोचे समझे लिया गया फैसला

0

बंगाली फिल्मों की स्टार और तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़कर पहली बार सांसद बनीं नुसरत जहां ने टिक टॉक समेत चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र सरकार के फैसले को बुधवार (1 जुलाई) को एक ”ढकोसला तथा बिना सोचे-समझे लिया गया फैसला” करार दिया। नुसरत ने टिक टॉक पर बैन के फैसले पर नाखुशी जाहिर करते हुए इसकी तुलना नोटबंदी से की।

नुसरत जहां

पश्चिम बंगाल के बशीरहाट से सांसद और फिल्म अभिनेत्री नुसरत जहां ने कहा कि सरकार को इन ऐप का भारतीय विकल्प देना चाहिए क्योंकि इनसे कई लोगों की आजीविका जुड़ी है। उन्होंने कहा कि लोगों को इस प्रतिबंध से नुकसान नहीं होना चाहिए जैसाकि नोटबंदी के बाद हुआ था। बता दें कि, अभिनेत्री तथा टीएमसी सांसद नुसरत जहां के टिक टॉक पर फॉलोवर की अच्छी खासी तादाद है और उनके वीडियो को फैंस खूब पसंद भी करते थे।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक नुसरत जहां ने टिक टॉक को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ”टिक टॉक एक मनोरंजन एप है। यह आवेग में लिया गया फैसला है। रणनीति प्लान क्या है? उन लोगों के बारे में क्या जो बेरोजगार हो जाएंगे? लोगों को नोटबंदी की तरह इसे भी झेलना पड़ेगा। मुझे इस बैन से कोई परेशानी नहीं है क्योंकि यह नेशनल सिक्योरिटी का मामला है लेकिन इन सवालों के जवाब कौन देगा।”

गौरतलब है कि, बुधवार को नुसरत जहां कोलकाता में प्रति वर्ष आयोजित की जाने वाली ‘उल्टा रथ यात्रा’ कार्यक्रम में शामिल हुईं। इस दौरान पति निखिल जैन भी उनके साथ थे। इसी कार्यक्रम के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की। इस दौरान नुसरत ने टिक टॉक पर अपनी राय जाहिर की। सांसद ने पिछले साल पश्चिम बंगाल के कारोबारी निखिल जैन से शादी की थी।

बता दें कि, लद्दाख सीमा पर भारत-चीन की सेनाओं के बीच जारी तनाव के बीच सोमवार को केंद्र सरकार ने चीन की 59 ऐप्स को भारत में बैन करने का आदेश जारी किया था। इन ऐप्स में लोकप्रिय चीनी ऐप टिक टॉक, यूसी ब्राउजर, हेलो और शेयर इट जैसे काफी पॉपुलर ऐप्स शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here