भीड़ नहीं जुटने की वजह से रैली रद्द होने पर अनुपम खेर बोले- ‘मेरी सभी फिल्में भी तो हिट नहीं हुईं थीं’

0

लोकसभा चुनाव में सभी पार्टियों के नेता मतदाताओं को लुभाने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। एक-एक वोट के लिए नेताओं को धूप में खूब पसीना निकालना पड़ रहा है। वोटर भी अपनी हर मांग नेताओं से पूरी करवाने की गारंटी मांग रहे हैं। दलों के सभी नेता वोट मांगने के लिए रैली और रोड शो में जुटे हैं। वहीं, चंडीगढ़ से बीजेपी प्रत्याशी किरण खेर के लिए वोट की मांग को लेकर उनके पति और बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर भी जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं।

हालांकि, सोमवार को अनुपम खेर एक रैली को संबोधित करने वाले थे, मगर भीड़ न जुटने की वजह से उन्हें रैली रद्द करनी पड़ी। जी हां, भले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सभी चुनावी रैलियों में मंच से अक्सर यह कहते हुए सुने जाते हैं कि ये अपार जनसैलाब दिखा रहा है कि हवा किस तरफ बह रही है। ऐसे में अगर किसी बीजेपी उम्मीदार के समर्थन में होने वाली रैली में भीड़ न जुट पाए तो उसे खबर बनना लाजिमी है। ऐसा ही एक वाकया अनुपम खेर के साथ भी हुआ है।

भीड़ न होने की वजह से रैली रद्द होने की खबरों से चिढ़े बीजेपी समर्थक अभिनेता ने कहा कि मैंने 515 फिल्में की हैं और सभी हिट तो नहीं हुए हैं। उन्होंने मंगलवार को चंडीगढ़ लोकसभा क्षेत्र में अपनी पत्नी व बीजेपी प्रत्याशी किरण खेर के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया, जिसमें अच्छी खासी लोगों की मौजूदगी थी। खेर ने रैली की तस्वीरों को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है। इसके साथ ही उन्होंने अखबार की उस खबर का भी जिक्र किया है जिसमें भीड़ बहुत कम होने के चलते अनुपम खेर की रैली रद्द होने का दावा किया गया था।

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में खेर ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कुछ न्यूजपेपर इस नई तस्वीर को भी अखबार में जगह देंगे। न्यूज रिपोर्ट का जिक्र करते हुए अनुपम खेर ने कहा कि मैंने अब तक 515 फिल्में की हैं और ये सभी हिट नहीं हुईं। ये कहते हुए खेर ने अपनी रैली की भीड़ दिखाने की भी अखबार से अपील की। उन्होंने कहा कि जो कल की रैली भीड़ न होने के चलते रद्द होने की बात कर रहे थे, उन्हें आज की यह तस्वीर दिखानी चाहिए। तब मैं मानूंगा कि वे न्यूट्रल हैं। उन्होंने कहा कि ये सच बोलना हमने मोदी जी से सीखा है।

वहीं, एक ट्वीट में अखबार की कटिंग शेयर करते हुए उन्होंने कहा कि पहली तस्वीर में जो न्यूज है वह सही है। मैं रैली स्थल पर काफी पहले पहुंच गया। वहां कोई नहीं था। इसलिए मैं अगले स्थल पर चला गया। मगर दूसरी तस्वीर में सच्चाई है। मुझे उम्मीद है कि जिन अखबारों ने कम भीड़ की वजह से मेरी रैली रद्द होने वाली खबरों को प्रकाशित किया, वह आज के इस रैली की तस्वीर को भी जगह जरूर देंगे। उन्होंने कहा कि खुशी होगी अगर यह न्यूजपेपर इसी तन्मयता से कल के एडिशन में इस खबर को प्रकाशित करेगा।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, अभिनेता अनुपम खेर का अपनी पत्नी सांसद किरन खेर के लिए चुनाव प्रचार का पहला दिन उनके लिए सुखद नहीं रहा, क्योंकि सोमवार को चंडीगढ़ में उनके पहले से निर्धारित दो कार्यक्रमों नहीं हो सके। पहली सार्वजनिक बैठक चंडीगढ़ के सेक्टर 28-सी के एक आवासीय क्षेत्र में शाम 4 बजे होनी थी। लेकिन इसे अंतिम समय पर रद्द करना पड़ा, क्योंकि जनता के साथ होने वाली इस मीटिंग के बारे में कई पार्टी नेताओं और मीडिया को भी कोई जानकारी नहीं थी।

द ट्रिब्यून के मुताबिक, बताया जा रहा है कि भीड़ नहीं जुटने की वजह से अभिनेता की रैली को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने रद्द कर दिया। हालांकि, आयोजकों में से एक मन्नू भसीन ने अखबार से कहा कि उन्हें पार्टी कार्यालय से टेंट लगवाना था, लेकिन समय पर नहीं मिला। सूत्रों ने अखबार को कहा कि चूंकि पार्टी भीड़ नहीं जुटा सकी, जो बैठक रद्द करने का एक मुख्य कारण था।

इसके अलावा पार्टी को तब और शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा, जब अभिनेता को-जनसभा में शामिल हुए बिना ही सेक्टर 35-सी के आंतरिक बाजार से वापस जाना पड़ा, क्योंकि आयोजन के निर्धारित समय (शाम 5 बजे) पर व्यवस्था नहीं की गई थी। अखबार के मुताबिक, अनुपम ने अपनी कार में से ही जब देखा कि ना ही कोई भीड़ है और न ही पार्टी द्वारा तंबू की व्यवस्था करवाई गई थी। इसके बाद वह चले गए और फिर वापस नहीं लौटे।

हालांकि, बाद में शाम 6 बजे के बाद कार्यक्रम शुरू हुआ, जहां पार्षद हीरा नेगी को लगभग 50 लोगों की सभा को संबोधित करते हुए देखा गया। पार्टी के कार्यक्रम के अनुसार, 200 व्यक्ति वहां आने वाले थे। हालांकि, भीड़ को व्यवस्थित करना आयोजकों के लिए एक कठिन कार्य साबित हुआ। आयोजक प्रीति वर्मा ने इसे पार्टी कार्यालय से समय पर टेंट न मिलने के लिए जिम्मेदार ठहराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here