CAA Protest: उत्तर पूर्वी दिल्ली में तीसरे दिन भी माहौल तनावपूर्ण, मरने वालों की संख्या 7 हुई

0

देश की राजधानी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में सीएए और एनआरसी को लेकर भड़की हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार को सीएए समर्थकों और सीएए विरोधियों के बीच हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है।

दिल्ली

तीसरे दिन भी मौजपुर-बाबरपुर इलाके में सुबह से ही पथराव हो रहा है और जानकरी के मुताबिक, इस इलाके में हालात अभी पूरी तरह तनावपूर्ण बने हुए हैं। सूत्रों की माने तो मौजपुर इलाके में रात भर दुकानों में तोड़फोड़ और लूटपाट की गई है और उस इलाके से गुजरते हुए लोगों के साथ मारपीट की घटना भी सामने आई है। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन और विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के बीच भड़की हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है। करीब 65 लोग घायल हुए हैं।

फायर ब्रिगेड को भजनपुरा इलाके से अब तक 45 आगजनी की कॉल आ चुकी हैं। एक फायर ब्रिगेड की गाड़ी पर भी पथराव किया गया है जबकि एक गाड़ी में आग भी लगा दी गई है जिसके कारण तीन फायर कर्मी घायल भी हुए हैं।जाफराबाद में हिंसा के बाद तनाव को देखते हुए रैपिड एक्शन फोर्स की टुकड़ी तैनात की गई है। साथ ही मौजपुर और बाबरपुर इलाके में भी भारी संख्या में अर्धसैनिक बल तैनात है।

सीएए और एनआरसी के विरोध एवं समर्थन को लेकर सोमवार-मंगलवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए राजधानी के आज पांच मेट्रो स्टेशन बंद हैं। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने मंगलवार (25 फरवरी) को ट्वीट कर लिखा, ‘‘जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्कलेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन बंद हैं। वेलकम मेट्रो स्टेशन के आगे मेट्रो नहीं जा रही है।’’ मेट्रो स्टेशन बंद होने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

गौरतलब है कि, सोमवार (24 फरवरी) को उत्तर पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर भड़की हिंसा में एक हेड कांस्टेबल की भी मौत हो गई है। वहीं एक डीसीपी समेत कई पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की खबर है। बता दें कि, जाफराबाद और मौजपुर में सोमवार को सीएए को लेकर हिंसा भड़क गई थी। वहां सीएए के विरोध और समर्थन वाले लोग आमने-सामने आ गए थे। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here