कोरोना लॉकडाउन के बीच राहत भरी खबर, गैर-सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर 162.50 रुपये हुआ सस्ता

0

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण देशभर में जारी पूर्णबंदी के बीच खाना पकाने की गैस (एलपीजी) का इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं के लिए एक राहत भरी खबर है। कोरोना लॉकडाउन के बीच, गैर-सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर शुक्रवार से 162.50 रुपये सस्ता हो गया। बीते दिनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में ईंधन की कीमत गिरने के चलते यह लगातार तीसरे महीने रसोई गैस सिलेंडर के दाम में कमी की गई है।

रसोई गैस
file photo

बता दें कि, रसोई गैस ग्राहकों को सरकार सालभर में 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडरों पर सब्सिडी देती है। जो ग्राहक इससे अधिक सिलेंडर खरीदते हैं या जिन्होंने अपनी सब्सिडी छोड़ दी है उन्हें बाजार मूल्य पर बिना सब्सिडी के सिलेंडर खरीदना होता है। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए कई देशों में लॉकडाउन (बंद) किया गया है। इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की मांग घटी है जिसके चलते उसकी कीमतें रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गई हैं।

पिछले महीने ब्रेंट कच्चा तेल 15.98 डॉलर प्रति बैरल के रिकॉर्ड निचले स्तर तक चला गया था। यह दो दशक में कच्चे तेल की सबसे कम कीमत रही। शुक्रवार को ब्रेंट कच्चा तेल 26.43 डॉलर प्रति बैरल पर रहा। सरकारी ईंधन कंपनियों की सूचना के अनुसार बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत घटने के बाद दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत 581.50 रुपये रह जाएगी। गुरुवार को यह 744 रुपये थी। गैर-सब्सिडी रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में यह जनवरी 2019 के बाद सबसे बड़ी कटौती है। तब सिलेंडर की कीमत 150.50 रुपये कम हुई थी।

इससे पहले गैर-सब्सिडी सिलेंडर के दाम अप्रैल में 61.50 रुपये और मार्च में 53 रुपये कम हुए जबकि फरवरी में दाम 144.5 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ाए गए थे। लेकिन मार्च से अब तक गैर-सब्सिडी सिलेंडर की कीमत में कुल 277 रुपये की कमी आ चुकी है। यह फरवरी में की गई वृद्धि से अधिक है। मुंबई में इस सिलेंडर की कीमत 714.50 रुपये से घटकर 579 रुपये रह गई। सूचना के अनुसार वाणिज्यिक उपयोग वाले 19 किलोग्राम के गैस सिलेंडर की कीमत 1,285 रुपये से घटकर 1,029.50 रुपये रह गई।

बता दें कि, कोरोना वायरस महामारी से भारत समेत दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन चल रहा है। कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर के देशों में मंदी जैसे हालात हो गए हैं। कोरोना वायरस के चलते कारोबारी गतिविधियां लगभग ठप सी हो गई हैं। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here