नोएडा: कंपनी ने ऑफिस की छत पर 60 मुस्लिम महिला कर्मचारियों को जुमे की नमाज अदा करने के लिए दी जगह

0

देश की राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर-58 स्थित सार्वजनिक पार्क में शुक्रवार को होने वाली जुमे की नमाज पर प्रशासनिक रोक के कुछ दिनों बाद वहां की एक स्थानिय कंपनी ने धार्मिक सहिष्णुता का एक उदाहरण पेश किया है। यहां की एक निजी कंपनी ने अपनी ऑफिस की छत पर मुस्लिम महिलाओं को शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए जगह दी है।

Representational image

11 जनवरी को नोएडा के सेक्टर 64 ए-ब्लॉक की एक कंपनी ने शुक्रवार को छत पर 60 से अधिक महिलाओं कर्मचारियों को जगह मुहैया कराई, जहां पर उन्होंने सामूहिक रूप से जुमे की नमाज अदा की। महिला श्रद्धालुओं में से एक ने कहा कि कंपनी ने उन्हें नमाज अदा करने और दोपहर के भोजन के लिए हर शुक्रवार दोपहर 1 बजे से 2 बजे के बीच एक घंटे का ब्रेक प्रदान किया है।

हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, जुमे के दिन कारखाने की छत को दो भागों में विभाजित किया जाता है, जहां एक पर पुरुष इकट्ठा होते हैं और दूसरे पर महिला कर्मचारी हर शुक्रवार को नमाज अदा करते हैं। कंपनी के एक कर्मचारी ने बताया की हमारी कंपनी ने मैट, गद्दे और एक इमाम के लिए भी मदद की है ताकि नमाजियों की सहायता की जा सके। माना जाता है कि यह कंपनी अपनी धार्मिक सहिष्णुता के लिए एक मिसाल पेश की है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के एक कर्मचारी ने बताया कि मैं पिछले 13 सालों से कंपनी का कर्मचारी हूं। मैंने एक ऐसी संस्कृति देखी है जहां शुक्रवार को मुस्लिम कर्मचारियों को जगह दी जाती है, हिंदू कर्मचारियों के लिए नवरात्रों के दौरान भजनों का आयोजन किया जाता है। इन प्रथाओं के कारण सकारात्मक माहौल बना है।

आपको बता दें कि बीते महीने सेक्टर-58 के एक पार्क में जुमे की नमाज अदा करने पर रोक लगा दी गई थी। नोएडा अथॉरिटी के पार्क में नमाज और अन्य किसी तरह के धार्मिक आयोजन को लेकर नोएडा पुलिस ने इंडस्ट्रियल में स्थित सभी कंपनियों को नोटिस भेजा था। पुलिस ने कहा था कि अगर पार्क में कोई नमाज पढ़ता देखा गया तो पूरी जिम्मेदारी कंपनी की होगी और उसी पर कार्रवाई की जाएगी।

पार्क में नमाज को लेकर विवाद कहीं बढ़ न जाए और कोई अप्रिय घटना न हो जाए इसलिए नोएडा प्रशासन ने पार्क को पानी से भर दिया था, ताकि वहां कोई धार्मिक आयोजन न हो सके और नमाज न पढ़ी जा सके। हालांकि, प्रशासन द्वारा पार्क में पानी भरे जाने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों की मदद के लिए कई निजी कंपनियां सामने आई थी।

सेक्टर 58 स्थित एक होजरी कंपनी के मालिक ने नाम न बताने की शर्त पर हिंदुस्तान टाइम्स को बताया था कि वह पिछले 12 वर्षों से शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए अपने मुस्लिम कर्मचारियों के लिए छत कर जगह की व्यवस्था कर रहा था। उन्होंने बताया कि जहां पिछले दिनों दिनों करीब 35 से 50 लोगों ने शुक्रवार को नमाज अदा की थी, वहीं कंपनी के कार्यालय की छत पर नमाज अदा करने के लिए शुक्रवार को 70 से 80 लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here