सुप्रीम कोर्ट की महिला वकील कुलजीत कौर की हत्या पर नोएडा पुलिस ने किया सनसनी खेज खुलासा, पांच गिरफ्तार

0

देश की राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 26 में रहने वाली सुप्रीम कोर्ट की महिला वकील कुलजीत कौर की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि, अप्रैल माह में लूटपाट के इरादे से कुलजीत कौर की हत्या कर दी गई थी। आरोपी वारदात के बाद घर में लगे सीसीटीवी कैमरे तोड़कर डीवीआर भी उखाड़कर ले गए थे। हत्या कर लूटपाट की घटना के बारे में पुलिस का कहना है कि घरेलू नौकरानी और उसके कथित पति ने ही इसे अंजाम दिया था।

कुलजीत कौर

महिला वकील कुलजीत कौर की पुरानी नौकरानी ने इन दोनों को घर में तीन करोड़ रुपए तक के आभूषण होने की जानकारी दी थी। नोएडा पुलिस ने इस घटना में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है हालांकि, नौकरानी बनकर आई महिला नेपाल भाग चुकी है और उसकी तलाश अभी की जा रही है। नोएडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि इस घटना की साजिश महिला वकील कुलजीत कौर की पुरानी नौकरानी रीता, उसका पति ललित, नाबालिग बेटी और नौकर बनकर काम करने आए नेपाली युवक धनबहादुर उर्फ संजू शाही, इसकी कथित पत्नी मनीषा और इनके दोस्त कपिल पंडित ने रची थी।

उन्होंने बताया कि इनमें से मनीषा को छोड़कर अन्य सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उन्हें गुरुवार दोपहर करीब एक बजे चिल्ला फ्लाईओवर के पास से गिरफ्तार किया गया। अधिकारी ने बताया कि उनके पास से लूटे हुए आभूषण और कार की चाबी, मोबाइल फोन तथा लूट की घटना में इस्तेमाल कार बरामद हुई।

अधिकारी ने बताया कि घटना में शामिल नौकर-नौकरानी संजू शाही और मनीषा ने पति-पत्नी बताकर घटना से एक हफ्ते पहले ही काम शुरू किया था। हालांकि, दोनों पति-पत्नी नहीं बल्कि दोस्त हैं। उन्होंने दावा किया कि दोनों मूलरूप से नेपाल के रहने वाले हैं और पिछले कई सालों से देहव्यापार में संलिप्त हैं और उनके साथ इसमें कपिल पंडित भी शामिल हैं।

अधिकारी ने बताया कि ये तीनों दिल्ली-एनसीआर, गुजरात, हरियाणा व राजस्थान के होटलों में भी ग्राहकों के संपर्क कर कॉलगर्ल भेजते थे। पुलिस ने बताया कि संजू शाही की पहचान नोएडा में महिला वकील कुलजीत कौर के घर डेढ़ साल तक काम करने वाली रीता के पति ललित से थी, रीता यहां घर की सफाई करती थी और खाना पकाती थी जबकि ललित भी साथ में रहकर माली का काम करता था।

उन्होंने बताया कि इसी दौरान उन्हें घर में करोड़ों के आभूषण होने की जानकारी हुई थी और दोनों ने घटना से 4 महीने पहले ही काम छोड़ दिया था, इसके बाद ललित व रीता ने संजू शाही को बताया था कि महिला वकील का कोई वारिस नहीं है और घर में 2 से 3 करोड़ की जूलरी है जिसे आसानी से लूटा जा सकता है। लूटने के बाद उन्हें 25 फीसदी रकम देना होगा। इस शर्त पर इन्होंने मिलकर लूट की पूरी साजिश रच डाली। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here