नोएडा गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन पर गैंगरेप का आरोप निकला फर्जी, युवती ने कहा- गुस्से में लगाया आरोप

0

नोएडा इलाके में शुक्रवार शाम एक चलती कार में में कथित गैंगरेप की शिकार 25 वर्षीय पीड़िता ने इस घटना को झूठा करार दिया है। युवती ने पुलिस को खत लिखकर कहा है कि इस तरह की कोई घटना उसके साथ नहीं हुई है, उसने गुस्से में गैंगरेप का आरोप लगाया था।

गैंगरेप

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, नोएडा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक सुनीति ने कहा कि महिला ने शनिवार दोपहर पुलिस को लिखित में दिया कि यह घटना घटी ही नहीं थी। अधिकारी ने कहा, “हम उन कारणों की जांच कर रहे हैं कि उसने दुष्कर्म के आरोप क्यों लगाए।

जबकि कल इस मामले में पीड़िता का आरोप था कि वह सेक्टर-36 में रहती है और एक BPO में काम करती है। कल शाम करीब सात बजे वह गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन के पास कैब का इंतजार कर रही थी, तभी कार में सवार दो युवकों ने युवती से रास्ता पूछा। वह जैसी ही रास्ता बताने लगी कार में पीछे बैठे एक आरोपी ने युवती को कार में जबरन खींच लिया।

युवती ने आगे जानकारी देते हुए कहा कि दोनों बदमाश उसे लेकर नोएडा एक्सप्रेस-वे के रास्ते यमुना एक्सप्रेस-वे की तरफ चले गए, दोनों ने उसके साथ कार में ही गैंगरेप किया। युवती ने यह भी आरोप लगाया है कि, जब उसने इसका विरोध किया तो दोनों ने उसे जमकर पीटा।

युवती ने बताया कि आरोपी उसे गंभीर हालत में दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास सड़क पर छोड़कर फरार हो गए, बाद में उसने 100उ नम्बर डाॅयल कर दिल्ली पुलिस को घटना की सूचना दी, जिसके बाद दिल्ली पुलिस उसे लेकर नोएडा आई।

अब पुलिस ने इस बात को मान लिया है कि युवती के साथ इस प्रकार की कोई घटना नहीं हुई है। इस पर पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हम उन कारणों की जांच कर रहे हैं कि उसने दुष्कर्म के आरोप क्यों लगाए और इस संबंध में उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।’

जबकि इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब वह गैंगरेप के आरोपक के बाद युवती को अस्पताल लेकर गए तो वहां अस्पताल में उसे एक परिचित मिला और उसके बाद चिकित्सा परीक्षण कराए बगैर ही दोनों वहां से चले दिए, और उन्होंने कहा कि वे कोई मामला नहीं चाहते। बाद में पुलिस ने उससे चिकित्सा परीक्षण कराने के लिए फिर से कहा। अधिकारी ने कहा, इस बार उसने सिर्फ बाहरी परीक्षण करने की अनुमति दी और अंदरूनी परीक्षण से इनकार कर दिया।

नोएडा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक सुनीति ने कहा कि बाद में महिला ने स्वीकार किया कि उसके साथ यह घटना नहीं घटी थी और उसने पुलिस को इस बारे में लिखित में दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here