घूस मामला: दिल्ली हाई कोर्ट से CBI के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को फौरी राहत, अगली सुनवाई तक नहीं होगी गिरफ्तारी

0

इस समय देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) खुद सवालों के घेरे में आ गई है। सीबीआई के सीनियर अधिकारी एक दूसरे के ऊपर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगा रहे हैं। एजेंसी के अंदर जारी घमासान के बीच मीट कारोबारी मोईन कुरैशी केस में घूसखोरी के आरोपों में फंसे सीबीआई के नंबर-2 अधिकारी विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को दिल्ली हाईकोर्ट से राहत मिली है।

दिल्ली
file photo

मंगलवार (23 अक्टूबर) को दिल्ली हाईकोर्ट ने अस्थाना की गिरफ्तारी पर सोमवार (29 अक्टूबर) तक रोक लगा दी है। सीबाआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की तरफ से कार्रवाई के खिलाफ दायर अर्जी पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि वे पूरे आरोपों पर 29 अक्टूबर को जवाब दें। अदालत ने CBI को याथास्थिति बरकरार रखने का निर्देश दिया है।

कोर्ट ने अस्थाना को अंतरिम राहत देते हुए FIR दर्ज होने के बाद सोमवार (29 अक्टूबर) तक उनकी संभावित गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। साथ ही कोर्ट ने गैरजमानती वारंट जारी करने पर भी रोक लगा दी है। अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि आरोपी का इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड, जिसमें मोबाइल फोन, लैपटॉप आदि शामिल हैं, वह संरक्षित किए जाएं। दूसरी तरफ, सीबीआई ने कोर्ट से एफआईआर में संशोधन करने की अनुमति मांगी है।

गिरफ्तारी के डर से पहुंचे हाईकोर्ट

दरअसल, राकेश अस्थाना को इस मामले में अपनी गिरफ्तारी की आशंका थी, जिसे रुकवाने के लिए उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट का रुख किया। घूस मामले में अपने खिलाफ दायर एफआईआर को लेकर अस्थाना ने मंगलवार को हाईकोर्ट में में अपील दायर की। अस्थाना ने हाई कोर्ट से यह निर्देश देने की मांग की कि उनके खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई न की जाए।

आपको बता दें कि सीबीआई ने कल यानी सोमवार को घूस से जुड़े एक मामले में अपने डीएसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था। जिसे मंगलवार को अदालत ने एजेंसी की सात दिन की हिरासत में भेज दिया। इस मामले में जांच एजेंसी में दूसरे नंबर के अधिकारी अस्थाना का भी नाम आ रहा है। मीट कारोबारी मोइन कुरैशी से जुड़े मामले में जांच अधिकारी रहे कुमार पर कारोबारी सतीश साना के बयान दर्ज करने में धोखाधड़ी के आरोप हैं। साना ने आरोप लगाया था कि उन्होंने इस मामले में राहत पाने के लिए रिश्वत दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here