निर्भया की मां ने किया अभिनेत्री कंगना रनौत के बयान का समर्थन, इंदिरा जयसिंह को लताड़ा

0

निर्भया की मां आशा देवी ने बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह पर निशाना साधा था। निर्भया की मां ने एक बार फिर से इंदिरा जयसिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि, उन्होंने जो भी कहा था वो गलत था। वो बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों का मजाक बना रही हैं।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि, “वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने जिस तरह से मुझसे सवाल किया। ये मानव अधिकारों के नाम पर समाज को धोखा देना है। बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों का मजाक बनाना है। ये मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं और सिर्फ और सिर्फ मुजरिमों को सपोर्ट करते हैं।”

साथ ही उन्होंने अभिनेत्री कंगना रनौत के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि, “मैं कंगना रनौत के बयान से सहमत हूं। मैं उनका धन्यवाद करती हूं। मैं किसी की तरह महान नहीं बनना चाहती। मैं एक मां हूं और सात साल पहले मेरी बेटी की जान गई है और मैं इंसाफ चाहती हूं।” बता दें कि, इससे पहले भी निर्भया की मां ने इंदिरा जयसिंह के बयान पर पलटवार कर चुकी हैं।

पढ़िए क्या कहां था कंगना रनौत?

दरअसल, एक कार्यक्रम के दौरान जब इंदिरा जयसिंह के सवाल पर कंगना रनौत से सवाल पूछा गया तो उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा था कि, “उस लेडी (इंदिरा जयसिंह) को उन लड़कों के साथ 4 दिन जेल में रखो, उनको रखना चाहिए। कैसी-कैसी औरतें होता हैं, जिन्हें ऐसे लोगों पर दया आती हैं। ऐसी औरतों के कोख से निकलते हैं वहशी दरिंदे। ये भी किसी के कोख से निकले हैं, उन्हीं की कोख ऐसी हैं। ऐसी औरतों को खूनियों पर प्यार आता है।”

इंदिरा जयसिंह के बयान पर निर्भया की मां ने किया था पटलवार

गौरतलब है कि, निर्भया की मां आशा देवी ने दिल्ली की अदालत द्वारा दोषियों की फांसी की अगली तारीख तय करने पर अपनी निराशा जाहिर की थी। जिस पर इंदिरा जयसिंह ने ट्वीट कर कहा था, ‘मैं आशा देवी के दर्द से पूरी तरह वाकिफ हूं, मैं उनसे आग्रह करती हूं कि वह सोनिया गांधी के उदाहरण का अनुसरण करें जिन्होंने नलिनी को माफ कर दिया और कहा कि वह उसके लिए मौत की सजा नहीं चाहती हैं, हम आपके साथ हैं लेकिन मौत की सजा के खिलाफ हैं।’

इंदिरा जयसिंह के बयान के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने जमकर सुनाई थी। आशा देवी ने इंदिरा जयसिंह पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा था कि, “मुझे ऐसा सुझाव देने वाली इंदिरा जयसिंह कौन होती हैं? पूरा देश चाहता है कि दोषियों को फांसी दी जाए। सिर्फ इनके जैसे लोगों की वजह से ही रेप पीड़िताओं के साथ न्याय नहीं होता है।”

बता दें कि, निर्भया सामूहिक दुष्कर्म एवं हत्याकांड मामले में दिल्ली की अदालत ने शुक्रवार (17 जनवरी) को सभी चारों दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया। इस नए डेथ वारंट के अनुसार अब 22 जनवरी की जगह सभी दोषियों को एक फरवरी की सुबह छह बजे फांसी की सजा दी जाएगी।

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here