पुलवामा आंतकी हमला: मध्य प्रदेश के एक और यूपी के 12 जवान शहीद, सीएम कमलनाथ का ऐलान, शहीद के परिवार को 1 करोड़ रुपये और नौकरी की मदद

0

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार शाम सुरक्षा बलों पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों में से एक मध्य प्रदेश जबलपुर के अश्विनी कुमार काछी भी हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अश्विनी की शहादत को नमन करते हुए उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है।

पुलवामा
फोटो: सोशल मीडिया

शहीद होने वाले जवानों में उत्तर प्रदेश के 12 जवान हैं जो कि चन्दौली, महराजगंज, शामली, देवरिया, मैनपुरी, वाराणसी, कन्नौज, कानपुर देहात तथा उन्नाव के निवासी हैं। जवानों के शहीद होने की खबर उनके घरों में आई तो कोहराम मच गया, शहीद जवानों के परिवारवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। इस बीच, मुख्यमंत्री यागी आदित्यनाथ ने शहीद जवानों के परिजनों को 25-25 लाख रुपये और परिवार के सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है। इसके अलावा जवानों के पैतृक गांव की सड़क का नाम उनके नाम पर रखा जाएगा।

सीएम कमलनाथ ने शुक्रवार(15 फरवरी) को शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट कर कहा, “शहादत को नमन..! पुलवामा आतंकी हमले में शहीद मध्य प्रदेश के जबलपुर के सपूत अश्विनी कुमार काछी की शहादत को नमन करता हूं। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शहीद के परिवार को 1 करोड़ रुपये, एक आवास एवं परिवार के 1 सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाएगी। दुख की इस घड़ी में हम शहीद परिवार के साथ हैं।”

शहीद हुए जवानों में पांच राजस्थान के भी हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए हमले की निंदा की है। भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, शहीद हुए जवानों में राजस्थान के शाहपुरा (जयपुर) के रोहिताश लांबा, सांगोद (कोटा) के हेमराज मीणा, सुंदरावली (भरतपुर) के जीतराम गुर्जर, राजाखेडा (धौलपुर) के भागीरथ कसाना और बिनोल (राजसमंद) के नारायण लाल गुर्जर शामिल हैं। ये सभी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल में थे।

मुख्यमंत्री यागी आदित्यनाथ ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए फेसबुक पोस्ट में कहा, पुलवामा में एक कायराना आतंकी हमले में सीआरपीएफ के शहीद जवान को कोटि-कोटि नमन। पूरा देश इन शहीदों के परिवारों के साथ खड़ा है। हमारे बहादुर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। शहीद होने वाले जवानों में उत्तर प्रदेश के 12 जवान हैं जो कि चन्दौली, महराजगंज, शामली, देवरिया, मैनपुरी, वाराणसी, कन्नौज, कानपुर देहात तथा उन्नाव के निवासी हैं। प्रदेश सरकार प्रत्येक शहीद जवान के परिवार को 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि तथा परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देगी।

सीएम योगी ने अपने पोस्ट में आगे लिखा, जवानों के पैतृक गांव के सम्पर्क मार्ग का नामकरण शहीद जवानों के नाम पर किया जाएगा। शहीद जवानों का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा जिसमें प्रदेश सरकार के मंत्री, जनप्रतिनिधि तथा जिला प्रशासन के अधिकारीगण मौजूद रहेंगे।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार(14 फरवरी) को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें कम से कम 42 जवान शहीद हो गए जबकि कई गंभीर रूप से घायल हुए हैं। हमले के बाद सीआरपीएफ ने कश्मीर घाटी और राज्य में अन्य स्थानों पर अपने सभी प्रतिष्ठानों को ‘अति सतर्कता’ बरतने का अलर्ट जारी किया है।

सीआरपीएफ के 2,500 से अधिक जवान 78 वाहनों के काफिले में यात्रा कर रहे थे जब आतंकवादियों ने गुरुवार को दोपहर करीब तीन बजकर 15 मिनट पर श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा के लातूमोड़ में घात लगाकर हमला किया। ज्यादातर जवान छुट्टी के बाद फिर से ड्यूटी पर लौट रहे थे। पुलिस ने फिदायीन हमलावर की पहचान आदिल अहमद के रूप में की है। अधिकारियों ने बताया कि वह 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here