न्यूज़ 18 ने ISIS प्रमुख पर बनाए कार्यक्रम में बगदादी के युवावस्था के रूप में निर्दोष भारतीय युवक को दिखा दिया

0

भारतीय मूल के एक सऊदी परिवार ने न्यूज़ 18 इंडिया के एक कार्यक्रम को लेकर गुस्सा जाहिर किया है। परिवार का आरोप है कि चैनल ने उनके बच्चे को गलत रूप से अबु बक्र अल-बगदादी के युवावस्था के रूप में प्रस्तुत किया है। परिवार का कहना है चैनल यह भूल गया कि बगदादी दुनिया का सबसे खूंखार आतंकवादी संगठन आईएसआईएस का प्रमुख है।

दरअसल, नेटवर्क 18 मीडिया समूह के हिंदी चैनल न्यूज़ 18 इंडिया ने शुक्रवार(31 मार्च) को अल-बगदादी के जीवन पर आधारित एक विशेष प्रोग्राम चलाया। चैनल ने अपने 17 मिनट के लंबे कार्यक्रम में दावा किया कि बगदादी के उस अतीत को उसने खुलासा किया है, जो अब तक किसी भी मीडिया ने नहीं किया था।

चैनल के एंकर दिग्विजय सिंह ने अपने क्राइम शो ‘हादसा’ में बगदादी के हर गुप्त रहस्य को बेनकाब करने का दावा किया है। इस कार्यक्रम को 1 अप्रैल 2017 को चैनल की वेबसाइट पर पोस्ट किया गया है। जिसका शीर्षक है, ‘कैसे लेक्‍चरर से ISIS का सरगना बन गया ये युवक।’

इस कार्यक्रम में 12 मिनट के बाद (देखें पूरा प्रोग्राम) एक लड़के को दिखाया गया है जो इस्लामिक पोशाक और इस्लामिक टोपी पहना हुआ है, जो खासतौर पर खाड़ी देशों में पहना जाता है। वाइस-ओवर से यह स्पष्ट लग रहा है कि लड़के को बगदादी के युवा रूप में पेश करने का प्रयास किया गया है।

हालांकि, चैनल के इस प्रोग्राम से कोई परिवार बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं होगा, क्योंकि वीडियो में जिस बच्चे को दिखाया गया है, वह इस समय सऊदी अरब में इंटरनेशनल इंडियन स्कूल जेद्दा का छात्र है। न्यूज 18 द्वारा जिस वीडियो में लड़को को दिखाया गया है उस क्लिप को एक डाक्यूमेंट्री फिल्म से लिया गया है, जिसे इंटरनेशनल इंडियन स्कूल जेद्दा के छात्रों द्वारा शैक्षिक परियोजना के तहत बनाया गया था।

चैनल ने स्पष्ट रूप से उसी वीडियो का एक हिस्सा उठाया है, ताकि उस लड़के को बगदादी के युवावस्था के रूप में पेश किया जा सके। जबकि, वास्तविकता यह है कि बच्चा सऊदी अरब में पढ़ाई करने वाला एक भारतीय मूल का निर्दोष छात्र है।

(नीचे देखें वीडियो)

आईएसआईएस पर अध्ययन करने वाले एक छात्र दास आरिफ ने चैनल द्वारा बगदादी पर बनाए गए प्रोग्राम में एक निर्दोष बच्चों को अनैतिक रूप से शामिल करने के लेकर अपने फेसबुक वॉल पर निंदा करते हुए प्रोग्राम को पोस्ट किया है।

अपने फेसबुक पोस्ट में आरिफ ने लिखा कि समाचार 18 ने सऊदी में मेरे जूनियरों द्वारा बनाए डाक्यूमेंट्री फिल्म से एक हिस्से को लेकर आईएसआईएस के संस्थापक बगदादी के बचपन के रूप में पेश किया है। उन्होंने कहा कि इस क्लिप में जिस बच्चे को दिखाया गया है वह मेरा जूनियर है जो एक सामान्य भारतीय मुस्लिम की भूमिका निभा रहा है।

आरिफ ने चिंता व्यक्त करते हुए लिखा है कि भारतीय मीडिया इन दिनों कितना विनाशकारी हो गया है। उनके पोस्ट के बाद चैनल के खिलाफ लोगों ने हैशटैग #News18learnethics के साथ आक्रोश व्यक्त किया है।


‘जनता का रिपोर्टर’ से बात करते हुए आरिफ ने कहा कि वह जेद्दा में बच्चे के परिवार के संपर्क में हैं और वे चैनल के खिलाफ नियामक संस्था एनबीएसए को इस मामले में शिकायत दर्ज कराने का विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले हम चैनल से अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे, ताकि इस वीडियो को इंटरनेट के सभी प्लेटफॉर्मों से हटाया जाए और अपनी गलती को ठीक कर चैनल बिना शर्त माफी मांगे।

आरिफ ने कहा कि अगर हम चैनल की प्रतिक्रिया से संतुष्ट नहीं हुए तो हम एनबीएसए को अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि हम चैनल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करने को लेकर भी कानूनी विकल्पों की तलाश कर रहे हैं।

बता दें कि ‘जनता का रिपोर्टर’ ने इस मामले में प्रतिक्रिया लेने के लिए न्यूज़ 18 चैनल से संपर्क करने के लिए कई बार प्रयास किया, लेकिन हमे सफलता नहीं मिली। जैसे ही हमे चैनल की तरफ से कोई प्रतिक्रिया मिलेगी हम उनके बयान को अपडेट करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here