PM मोदी बोले- जातिवाद और सांप्रदायिकता के जहर से मुक्त होगा ‘न्यू इंडिया’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2017 के अखिरी दिन रविवार (31 दिसंबर) को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए एक बार फिर देशवासियों को संबोधित किया। ये पीएम की ‘मन की बात’ का 39वां एपिसोड था। इसमें पीएम ने सबसे पहले देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि न्यू इंडिया जातिवाद और सांप्रदायिकता के जहर से मुक्त होगा। पीएम मोदी ने इस मन की बात कार्यक्रम में खासकर युवाओं और न्यू इंडिया पर विस्तृत बात की।

मोदी
फाइल फोटो

मोदी ने कहा कि जो युवा 18 साल के हो रहे हैं, वो अपने वोट देने के अधिकार से भारत के लोकतंत्र को मजबूत बनाएं। साथ ही पीएम ने देश के हर जिले से एक युवा को न्यू इंडिया पर मंथन के लिए आमंत्रित करने का आह्वान भी किया।प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरे लिए 1 जनवरी विशेष दिन है। जो लोग वर्ष 2000 या उसके बाद जन्‍मे हैं, वे 1 जनवरी 2018 से वोटर बनना शुरू हो जाएंगे। भारतीय लोकतंत्र न्‍यू इंडिया वोटर्स का स्‍वागत करता है।

उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के वोटर होने के नाते आप भी गौरव का अनुभव करते होंगे। आपका वोट न्‍यू इंडिया का आधार बनेगा। वोट की शक्ति, लोकतंत्र में सबसे बड़ी शक्ति है। लाखों लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए ‘वोट’ सबसे प्रभावी साधन है। पीएम ने युवाओं ने ‘न्‍यू इंडिया’ के लिए आगे आने की अपील करते हुए कहा, ”मैं चाहूंगा कि सभी योजनाओं की जानकारी युवाओं को मिले और इस बारे में कोई ऐसी व्‍यवस्‍था बने ताकि उन्‍हें नई जानकारी मिल सके।

पीएम ने कहा कि क्या हम भारत के हर ज़िले में एक मॉक पार्लियामेंट आयोजित कर सकते है? जहां 18 से 25 वर्ष के युवा, न्यू इंडिया पर मंथन करें, रास्ते खोजें, योजनाएं बनाएं। अपने संकल्पों को 2022 से पहले कैसे सिद्ध कर सकते हैं।इसके साथ ही पीएम मोदी ने स्वच्छता और 21 वीं सदी के वोटरों पर चर्चा की है। उन्होंने कहा है कि पूरे देश में स्वच्छता अभियान पर सर्वे शुरू होने जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ घंटों बाद वक्‍त बदल जाएगा मगर हमारी बातों का सिलसिला यूं ही जारी रहेगा।

साथ ही ‘मन की बात’ में तीन तलाक के खिलाफ लोकसभा से बिल पारित किए जाने के ठीक बाद प्रधानमंत्री ने हज यात्रा को लेकर मुस्लिम महिलाओं के हक में आवाज उठाई है। पुरुष अभिभावक के बिना महिलाओं के हज यात्रा पर रोक को भेदभाव और अन्याय बताते हुए पीएम ने कहा कि उनकी सरकार ने इसे खत्म कर दिया है। पीएम ने साल के अंतिम ‘मन की बात’ में कहा कि मुस्लिम महिलाएं अब पुरुषों के बिना भी हज यात्रा पर जा सकती हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘हाल में ही मुझे पता चला था कि यदि कोई मुस्लिम महिला हज यात्रा पर जाना चाहती है तो वह किसी मर्द सदस्य के बिना नहीं जा सकती। मैं इस पर हैरान था कि यह कैसा भेदभाव है। लेकिन अब वे अकेली हज यात्रा पर जा सकती हैं। हमने यह नियम बदला और इस साल 1300 मुस्लिम महिलाओं ने बिना किसी पुरुष सदस्य के हज यात्रा पर जाने के लिए आवेदन किया।’

पीएम मोदी ने कहा कि आने वाला नया वर्ष सबके लिए खुशियां लेकर आए। जनवरी में मकर संक्रांति मनाया जाता है। यह पंजाब लोहड़ी और यूपी बिहार में खिचड़ी और असम में बिहू के तौर पर मनाया जाता है। सभी देशवासियों को इन त्यौहारों की ढेरों शुभकामनाएं। प्रधानमंत्री ने कहा कि 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। इस बार गणतंत्र दिवस पर सभी 10 आसियान देशों के नेता आएंगे। ऐसा कभी नहीं हुआ है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here