NDTV बैन पर ट्विटर यूर्जस ने कहा, बेहतर होता ZEE NEWS जबरदस्ती देखने का भी आदेश पारित कर दिया जाए

1

एनडीटीवी इंडिया को एक दिन के लिए बैन करने वाली सिफारिशो पर जनता का रिपोर्टर ने इस मामले में एनडीटीवी का पूरा समर्थन करते हुए अपनी वेबसाइट को उस दिन 1 घटें के लिए पूरी तरह से काला करने का निर्णय लिया हैं।

सोशल मीडिया पर भी केन्द्र सरकार के इस तानाशाही फरमान को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। नेता ,राजनेता और तमाम बड़ी शख्सियते इस बैन को लेकर कड़ा विरोध जता रहे हैं।

जनता का  रिपोर्टर द्वारा इस मामले में तमाम निष्पक्ष खबरे प्रकाशित की गई है और मीडिया के खिलाफ इस तरह की दंडात्मक कार्रवाई करने का पूर्ण विरोध किया है।

जनता का रिपोर्टर द्वारा एनडीटीवी के समर्थन के बाद एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने ऑफ एयर किए जाने की भरसक निदा करते हुए कहा, कि केंद्र सरकार समझती है कि वह मीडिया के कामकाज में दखलअंदाजी कर सकती है। और अपनी मर्जी से दंडात्मक कार्रवाई का अधिकार भी रहती है।

ये भी पढ़े-NDTV के समर्थन में जनता का रिपोर्टर ने ऑफलाइन जाने का निर्णय लिया

Also Read:  NDTV tells BSE there's no change in ownership

एडिटर्स गिल्ड सरकार के इस फैसले को स्वतंत्रता के मौलिक सिद्धांतों का उल्लंघन बताया। आपको बता दे जनता के रिर्पोटर ने भी सरकार के इस तुगलकी फरमान का कड़ा विरोध करते हुए एनडीटीवी को सर्पोट करते हुए उस दिन आॅफ एयर होने का निर्णय लिया है। यह है एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया का पूरा बयान।

ये भी पढ़े-जनता का रिपोर्टर के साथ NDTV के समर्थन में उतरी एडिटर्स गिल्ड, कहा सेंसरशिप थोपना एमरजेंसी के दिनों जैसा

सोशल मीडिया पर लोगों ने एनडीटीवी बैन को लेकर अपने खुले विचार और कड़ी प्रतिक्रियाएं दी हैं देखिए सोशल मीडिया रिएक्शन-

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here